अहोई अष्टमी 28 अक्टूबर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, October 26, 2021

अहोई अष्टमी 28 अक्टूबर

कार्तिक मास में कृष्ण पक्ष अष्टमी को अहोई अष्टमी के रूप में मनाते है। इस वर्ष अहोई अष्टमी 28 अक्टूबर को है। इस दिन माता पार्वती के अहोई स्वरूप की अराधना की जाती है। इस दिन स्त्रियां अपनी संतान के लिए


उपवास करती है और बिना अन्न-जल ग्रहण किये निर्जल व्रत रखती है।  निरूसंतान महिलाएं बच्चे की कामना में अहोई अष्टमी का व्रत रखती हैं। संायकाल को कुछ लोग तारों को अर्घ्य देकर और कुछ लोग चन्द्रमा को अर्घ्य देकर व्रत को पूर्ण करती है। इस दिन सायंकाल दीवार पर 8 कोणों वाली एक पुतली बनाई जाती है और पुतली के पास ही स्याऊ माता और उनके बच्चे बनाये जाते है। ये व्रत संतान सुख और संतान की कामना के लिये किया जाता है। शाम को व्रत कथा का पाठ किया जाता है। इस दिन पूजा मुर्हूत सायंकाल 05ः26 से 06ः43 है

  • तारो को देखने के लिए साँयकाल का समय .साँयकाल 5:50
  • अहोई अष्टमी को चन्द्रोदय समय -रात्रि 11:18 पर

- ज्योतिषाचार्य एस.एस.नागपाल, स्वास्तिक ज्योतिष केन्द्र, अलीगंज, लखनऊ

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages