आयुक्त ने टीम-9 गठित कर सौपी जिम्मेदारी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, May 4, 2021

आयुक्त ने टीम-9 गठित कर सौपी जिम्मेदारी

कोरोना महामारी संबंधी मामलो के लिए बनाए गए उत्तरदायी

कोरोना जांच के समय ही उपलब्ध कराएं दवा, समीक्षा कर अधिकारियों को दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। मंडलायुक्त दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड महामारी की दूसरी लहर के परिपे्रक्ष्य में टीम को पुनर्गठित करते हुए टीम-9 का गठन किया गया। टीमों को इस महामारी से लड़ने के लिए विभिन्न पहलुओं की समीक्षा, रणनीति बनाने व उसके प्रभावी कार्यान्वयन के लिए उत्तरदायी बनाया गया है। जिसमें आरआरटीएस, बेड्स की संख्या बढ़ाना, मेडिकल किटस का वितरण, निगरानी समितियों की समीक्षा, क्वॉरेंटाइन सेंटरों, जीवन रक्षक दवाओं की उपलब्धता, एंबुलेंस की व्यवस्था, ऑक्सीजन की उपलब्धता आदि विभिन्न बिंदुओं की समीक्षा की गई।

बैठक में निर्देश देते आयुक्त।

आयुक्त ने टीम -9 के अधिकारियों से कहा कि यह टीम नवरत्न टीम है। टीम भावना के साथ इस महामारी पर कार्य करें। इस महामारी से निपटना है और लोगों को सुरक्षित रखना है। कहा कि 45 वर्ष से अधिक लोगों को अधिक से अधिक टीका लगवाएं एवं फ्रंटलाइन वर्कर्स भी सत प्रतिशत टीका लगवा ले। इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए। कहा कि लेखपाल, सचिव, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी, पुलिस आदि कर्मचारी सभी लोग टीका अवश्य लगवाएं। जब शासन से निर्देश 18 वर्ष से ऊपर के लिए प्राप्त होंगे तो उस पर भी प्रभावी कार्रवाई की जाएगी। प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि मरीजों को 10 दिन की दवा दी जा रही है। जिसमें कोरोना के लक्षण प्राप्त होते हैं। इस पर आयुक्त ने प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए एंटीजन टेस्ट जहां पर हो रहे हैं जिन मरीजों में लक्षण मिले तो तत्काल वहीं पर उन मरीजों को दवा दे। कहा कि जितनी जल्दी मरीजों को दवा देंगे तो लोगों को स्वास्थ्य का लाभ मिलेगा। शासन से निर्देश है कि टेस्ट के दौरान ही दवा तत्काल उपलब्ध कराई जाए तथा उनसे लगातार स्वास्थ्य परीक्षण के बारे में जानकारी भी की जाए। जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल ने आयुक्त को बताया कि जनपद में कोविड-19 की रोकथाम एवं बचाव के लिए सभी व्यवस्थाएं की गई हैं। कहीं पर कोई समस्याएं नहीं है। गेहूं खरीद सही चल रही है। भुगतान भी समय से कराया जा रहा है। ऑक्सीजन की व्यवस्था लगातार की जा रही है। आयुक्त ने कहा कि रेलवे स्टेशन तथा बस स्टॉप पर बाहर से आने वाले प्रवासियों का टेस्ट कराकर उन्हें क्वॉरेंटाइन की भी व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। उन्होंने जिलाधिकारी से कहा कि जो नए ग्राम प्रधान चुने गए हैं उनसे जूम मीटिंग के माध्यम से इस महामारी को रोकने के लिए प्रेरित करें कि जश्न न मनाएं। गांव के लोगों की मदद करें। इसके अलावा उप जिला अधिकारी अपने अपने क्षेत्र पर आने वाले गांव में अधिक से अधिक इस महामारी के संबंध में प्रचार प्रसार कराएं तथा जो न्याय पंचायत स्तर पर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं उनसे लगातार गांव की फीडबैक भी ली जाए। प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि कोविड-19 अस्पताल में भर्ती रोगियों का चिकित्सकों द्वारा हर चार घंटे में परीक्षण किया जाए। अगर किसी मरीज को कोई समस्या है तो तत्काल उस मरीज को मेडिकल कॉलेज बांदा भेजें। जिलाधिकारी से कहा कि प्रत्येक दिन कुछ मरीजों से वार्ता करें। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से आज इस बीमारी से मृत्यु की संख्या बढ़ रही है तो लोग घबरा रहे हैं। इसको देखते हुए टीम भावना से काम करना होगा। तभी इस महामारी से लोगों को सुरक्षित रखा जा सकता है। जिलाधिकारी से कहा कि जनपद में लॉकडाउन को कड़ाई से पालन कराया जाए। उन्होंने सामान्य निर्वाचन पंचायत को सकुशल संपन्न कराने में सभी अधिकारियों को बधाई भी दी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, प्रशिक्षु आईएएस जयदेव सिंह, अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, उप जिलाधिकारी कर्वी राम प्रकाश, जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, उप निदेशक कृषि टीपी शाही, प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ इम्तियाज, जिला विद्यालय निरीक्षक बलिराज राम, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सीएल चैरसिया, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ आरके गुप्ता सहित संबंधित टीम-9 के अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages