कोविड प्रोटोकाल की धज्जियां उड़ा नामांकन कराने पहुँचे भाजपा उम्मीदवार - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, April 15, 2021

कोविड प्रोटोकाल की धज्जियां उड़ा नामांकन कराने पहुँचे भाजपा उम्मीदवार

जुलूस में शामिल रहे प्रदेश सरकार के मंत्री व विधायक 

विद्यार्थी चौराहा से जुलूस की शक्ल में नामांकन स्थल पहुंची भीड़ 

सत्ता की हनक के आगे अधिकारी बने रहे मूकदर्शक

फतेहपुर, शमशाद खान । सत्ता की हनक के आगे अधिकारी बेबस हो जाते हैं इसका जीता जागता उदाहरण उस समय देखने को मिला जब भारतीय जनता पार्टी के जिला पंचायत सदस्य पद के सभी प्रत्याशी एक साथ प्रदेश सरकार के मंत्रियों व विधायकों के साथ जुलूस की शक्ल में नामांकन स्थल कलेक्ट्रेट पहुंचे। इस जुलूस में कोविड प्रोटोकाल की जहां जमकर धज्जियां उड़ाई गयी वहीं अधिकारी भी मूकदर्शक बने यह सब देखते रहे और किसी की हिम्मत नहीं हुयी कि जुलूस को रोक सके। सत्ता की हनक के बीच नारेबाजी करते हुए सभी उम्मीदवारों ने नामांकन के अन्तिम दिन एक साथ अपने पर्चे दाखिल किये। जब लोगों को इसकी जानकारी हुयी तो पूरा दिन चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। 

जुलूस की शक्ल में कलेक्ट्रेट जाते जनप्रतिनिधि व भाजपा प्रत्याशी।

बताते चलें कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की आज अन्तिम दिन नामांकन प्रक्रिया रही। जिला पंचायत सदस्य पद के उम्मीदवारों की नामांकन प्रक्रिया कलेक्ट्रेट स्थित अपर जिलाधिकारी न्यायालय कक्ष, उप जिलाधिकारी कक्ष व अपर उप जिलाधिकारी कक्ष में चल रही है। नामांकन के अन्तिम दिन भारतीय जनता पार्टी की ओर से एक साथ सभी प्रत्याशियों का नामांकन कराये जाने का फैसला लिया गया। जिस पर सभी वार्डों के भाजपा उम्मीदवार अपने-अपने समर्थकों के साथ भाजपा कार्यालय पहुंचे। नामांकन के दौरान जिलाध्यक्ष आशीष मिश्रा, खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह, खागा विधायक कृष्णा पासवान, जिला प्रभारी प्रकाश शर्मा, पूर्व मंत्री राजेन्द्र पटेल, पूर्व जिलाध्यक्ष दिनेश बाजपेयी, मनोज शुक्ला समेत बड़ी संख्या में पार्टीजनों ने हिस्सा लिया। कोविड प्रोटोकाल की धज्जियां उड़ाते हुए जुलूस विद्यार्थी चैराहा पहुंचा। जहां से सभी प्रत्याशी व जनप्रतिनिधि नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट की ओर रवाना हुए। भाजपाईयों का हुजूम एकाएक कलेक्ट्रेट के अंदर प्रवेश कर गया। जुलूस के अंदर पहुंचे पर ड्यूटी पर मुस्तैद पुलिस कर्मियों की हिम्मत भी नहंी हुयी कि जुलूस को रोक सके। जबकि चुनाव आयोग के सख्त निर्देश थे कि इस बार कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन किया जाये। इस बाबत जिला निर्वाचन अधिकारी पं0 अपूर्वा दुबे ने पहले ही अधिकारियों की बैठक लेकर सख्त निर्देश दिये थे कि नामांकन स्थल पर भीड़ न लगे और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाये। प्रत्याशी के साथ सिर्फ प्रस्तावक को ही नामांकन कक्ष में प्रवेश दिया जाये। लेकिन इसके उलट आज नजारा ही कुछ और रहा। सत्ता की हनक के आगे अधिकारी बेबस दिखाई दिये। भाजपाईयों का हुजूम नामांकन स्थल तक पहुंचा जहां सभी प्रत्याशियों ने अपने-अपने प्रस्तावकों के साथ नामांकन पर्चे दाखिल किये। जब यह खबर शहर मंे फैली तो लोगों के बीच तरह-तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। लोगों का कहना रहा कि सत्ता पक्ष के नेता व प्रत्याशी कोविड नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं लेकिन जिला प्रशासन द्वारा उन पर कोई कार्रवाई नहंी की जा रही है। जबकि विपक्षी दलों के लोग यदि थोड़ी भी भीड़ एकत्र कर लें तो उनके खिलाफ मुकदमे की कार्रवाई की जाती है यह जिला प्रशासन का दोहरा चरित्र है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages