गर्म थपेड़ों से बेहाल हुआ जनजीवन, मार्गों पर दिखा सन्नाटा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, April 28, 2021

गर्म थपेड़ों से बेहाल हुआ जनजीवन, मार्गों पर दिखा सन्नाटा

फतेहपुर, शमशाद खान । अप्रैल माह के अन्तिम दिन लोगों के कटाये नहीं कट रहे हैं। जैसे-जैसे अप्रैल माह समाप्ति की ओर जा रहा है वैसे-वैसे गर्मी अपने पूरे शबाब पर आ रही है। आसमान से बरसती आग से गर्मी ने इंतहा कर दी है। सुबह भी हवा से ठंड गायब रही। हवा में भी पसीना रूक नहीं रहा, दिन कैसे कटेगा, सड़के वीरान रहीं। एक हफ्ते से बढ़ रहे पारे से बेहाल लोगों के बीच आज मची अकुलाहट से ऐसे ही शब्द निकले। प्रचण्ड गर्मी से लोग बेहाल रहे। सुबह होते ही सूर्य देवता अपने उग्र रूप के साथ बाहर आये। आलम ऐसा है कि दिन के 10 बजे से आसमान से आग बरसने लगी। दोपहर होते-होते एक बजे तक पारा 44 डिग्री पहुंच गया। जिससे लोग बुरी तरह परेशान हो गए। बाहर

धूप से बचने के लिए मुंह ढके महिलाएं।

की कौन कहे, घरों की तपती दीवारे व छतें भी लोगों को बेहाल कर रहीं हैं। घरों में गर्मी से बचने के उपाय के लिये लगे कूलर-पंखे भी जवाब दे गये कि रोजमर्रा के कामकाज भी भारी पड़ रहे है। आवश्यक कार्यों से घरों से बाहर निकलने वाले लोग तेज धूप से बचने के लिए सिर व मुंह को अंगौछे से बांधकर निकलना मजबूरी बना हुआ है। मौसम की तल्खी और गर्म हवाओं के थपेड़ों के चलते दोपहर में सडकों की हलचल थम सी गई। लोग जहां-तहां पाकर ठहर गये। बहुतेरे लोग शर्बत व शीतल पेय की दुकानों में पनाह लिए नजर आए। गर्मी में बर्फ की मांग बढ़ने के कारण गले को तर करने में सहायक इस साधन का दाम भी आसमान छूने लगा है। गर्मी के चलते जनजीवन बेहाल रहा। लोगों का कहना है कि अभी गर्मी की शुरूआत हुयी है। मई माह शुरू होते ही गर्मी और अधिक उग्र रूप धारण करेगी। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages