कलेक्ट्रेट सहित ब्लाक मुख्यालयों पर उड़ी कोविड नियमों की धज्जियां - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, April 18, 2021

कलेक्ट्रेट सहित ब्लाक मुख्यालयों पर उड़ी कोविड नियमों की धज्जियां

सिंबल पाने की होड़ में प्रत्याशी भूले दो गज की दूरी व मास्क 

फतेहपुर, शमशाद खान । वैश्विक महामारी से लोगों को बचाने जाने के लिए जहां प्रदेश सरकार द्वारा रविवार को प्रथम वीकेंड लाकडाउन लगाया गया वहीं इसी दिन कलेक्ट्रेट सहित ब्लाक मुख्यालयों पर पंचायत चुनाव के प्रत्याशियों का सिंबल वितरण कार्यक्रम रहा। जिसमें कोविड नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गयीं। कलेक्ट्रेट पर जिला पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशियों व ब्लाक मुख्यालयों पर ग्राम प्रधान व बीडीसी पद के प्रत्याशियों ने नियमों का पालन नहीं किया और भीड़ की शक्ल में प्रत्याशी खड़े दिखाई दिये। जिसमें कुछ ने मास्क तो लगाये रखा था लेकिन कुछ मास्क लगाना भी भूल गये। दो गज की दूरी का पालन करना तो उनके बस में ही नहीं था। अगर इस तरह के हालात बने रहे तो स्थिति भयावह हो जायेगी। 

कलेक्ट्रेट परिसर में सिंबल पाने के लिए भीड़ की शक्ल में खड़े प्रत्याशी।

पंचायत चुनाव के मद्देनजर कलेक्ट्रेट परिसर में उमड़ी प्रत्याशियों की भीड़ ने कोविड-19 को कहीं न कहीं धता बताने का भी प्रयास किया। सिंबल पाने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंचे प्रत्याशियों में कुछ ने तो मास्क लगाया था लेकिन कुछ प्रत्याशियों ने मास्क लगाना ही उचित नहीं समझा और कोरोना नियमों को धता बताने में तुले रहे। इतना ही नहीं सिंबल पाने की होड़ में पहुंचे ज्यादातर प्रत्याशी दो गज की दूरी जैसा कड़ा नियम भूल गए। कलेक्ट्रेट परिसर में प्रत्याशियों व समर्थकांे की सैकड़ों की तादाद में भीड़ जमा रही। यहां किसी भी तरह से कोविड नियमों का पालन नहीं किया गया। इसी तरह ब्लाक मुख्यालयों की स्थिति भी रही। जहां ग्राम प्रधान व बीडीसी पद के प्रत्याशी भी बड़ी संख्या में समर्थकों के साथ ब्लाक मुख्यालय पहुंचे और भीड़ की शक्ल में वहां खड़े रहे। एक ओर जहां अधिकारियों द्वारा कोविड नियमों का सख्ती से पालन कराये जाने की हिदायत बार-बार दी जा रही है वहीं सरकारी कार्यों में ही कोविड नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ रही है। जब कलेक्ट्रेट परिसर की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुयी तो लोगों के बीच नाराजगी भी व्याप्त रही। लोगों का कहना रहा कि आम जनमानस से सख्ती के साथ कोविड नियमों का पालन प्रशासन द्वारा कराया जा रहा है लेकिन जनप्रतिनिधियों से कोविड नियमों का पालन क्यों नहीं कराया गया। अगर स्थिति ऐसी ही बनी रही तो कोरोना को फैलने से कोई नहीं रोक सकता। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages