अव्यवस्थाओं के बीच मतगणना प्रशिक्षण का गुजरा पहला दिन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, April 29, 2021

अव्यवस्थाओं के बीच मतगणना प्रशिक्षण का गुजरा पहला दिन

कोविड गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाई

फतेहपुर, शमशाद खान । शहर के शान्तीनगर स्थित ठा0 युगराज सिंह ला कालेज में पंचायत चुनाव की मतगणना के लिए ड्यूटी प्राप्त करने व प्रशिक्षण लेने वाले कर्मचारियो की भीड़ कोविड काल में बड़ी समस्या का सबब बन सकती हैं। मौके पर न तो प्रभारी मौजूद हैं और न ही कार्मिक प्रशिक्षण उपस्थिति हेतु अधिकृत कर्मचारी है। अव्यवस्थाओं के बीच मतगणना प्रशिक्षण का पहला दिन गुजर गया और कोविड गाइडलाइन की खुलेआम धज्जियां भी उड़ाई गयीं। 

प्रशिक्षण को सम्बोधित करते वक्ता।

बताते चलें कि जिला बेसिक शिक्षाधिकारी ने बुधवार को आदेश जारी करके पांच खण्ड शिक्षा अधिकारियों व पैंतीस अध्यापको व लिपिकों की ड्यूटी लगाते हुए 29 एवं 30 अप्रैल को प्रातः 09 बजे से साय 06 बजे तक कार्मिकों के प्रशिक्षण में प्रतिदिन की उपस्थिति एवं अन्य आवश्यक रिपोर्ट तैयार कर दोनों दिन अलग अलग सूचनाएं प्रभारी अधिकारी कार्मिक को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे। प्रशिक्षण स्थल का आलम यह है कि खण्ड शिक्षा अधिकारी बहुआ देवेंद्र कुमार, खण्ड शिक्षा अधिकारी अमौली पुष्पराज सिंह, खण्ड शिक्षा अधिकारी तेलियानी विश्वनाथ, खण्ड शिक्षा अधिकारी एके कुशवाहा, खण्ड शिक्षा अधिकारी राम पूजन पटेल को ब्लाकवार प्रभारी का दायित्व सौंपा था। वह सभी मौके से नदारत रहे। इतना ही नहीं जिन कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई थी उनमें ज्यादातर स्वयं मौजूद न होकर किसी और से औपचारिकता निभाने का काम कर रहे हैं। नतीजतन प्रशिक्षण के लिए आने वाले कर्मचारियो की भीड़ लगी है और अफरा तफरी पूर्ण माहौल कोविड काल की चुनौतियों को बढ़ाने वाला साबित हो सकता है। न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो पा रहा है और न ही अन्य कोविड नियम ही मायने रख रहे हैं। वहीं आधिकारिक अव्यवस्था का उदाहरण इससे भी मिलता है कि पहले चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को यहां बुला लिया गया और जब तमाम कर्मचारी मौके पर पहुंच गए तो अनाउंस कर दिया गया कि इन कर्मियो की उपस्थिति और ड्यूटी यहां से नहीं मिलेगी, सीधे अपनी ड्यूटी स्थल पहुंचे। ये कर्मचारी इस संक्रमण काल में अपनी जान हथेली पर लिए घंटो इधर उधर भटकते देखे गए। मतगणना कर्मियो के प्रशिक्षण के पहले दिन अव्यवस्थाए हावी रहीं। कोविड़ काल की गाइडलाइन का कहीं पर ध्यान नहीं रखा जा रहा है और जिम्मेदारों का दूर-दूर तक कहीं पता नहीं है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages