तपती दोपहरी में लगी आग से सौ बीघा से अधिक गेहूं की फसल खाक - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, April 14, 2021

तपती दोपहरी में लगी आग से सौ बीघा से अधिक गेहूं की फसल खाक

फतेहपुर, शमशाद खान । सदर कोतवाली क्षेत्र के सनगांव गांव में बुधवार की दोपहर अचानक लगी आग से गेहूं एक सौ बीघा से अधिक फसल जल कर स्वाहा हो गई। हादसा के बाद कई घंटे देर से पहुंचे प्रशासनिक अमला और फायर ब्रिग्रेड़ को लेकर ग्रामीणों में भारी नाराजगी रही। फायर ब्रिगेड की दो बड़ी गाडियां मौके तक पहुंच नहीं सकी। ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। मौके पर पहुंची तहसीलदार विदुषी सिंह ने कहा कि लेकखपाल और कानूनगो को जली फसल का सर्वे कर विवरण तैयार करने के निर्देश दिये गये हैं।

तहसीलदार सदर ने बताया कि बुधवार की दोपहर करीब एक बजे सनगांव गांव के जंगल में हार्वेस्टर मशीन से गेहूं की कटाई हो रही थी। इस बीच अचानक से फसल में आग लग गई। धू-धू कर जलती फसल को तेज हवा के झोंकों ने और भी विकराल बना दिया। ग्रामीणों में चीख-पुकार मच गयी। लोग तपती दोपहरी में जलती सड़कों और रास्तों

धू-धूकर जलते गेहूं के खेत।

पर घरों से निकल कर जंगल की ओर दौड़ पड़े। ग्रामीणों की नाराजगी पर तहसीलदार ने कहा कि फायर ब्रिगेड के दो वाहनों को मौके तक पहुंचने का रास्ता नहीं मिला। इस लिये समय पर वाहन नहीं पहुंच सके। उन्होने कहा कि एक सौ बीघा से अधिक की फसल जलने का अनुमान है, लेकिन सही आंकलन सर्वे के बाद ही हो पायेगा। उन्होने कहा कि सर्वे के लिये लेखपाल और कानूनगो को निर्देश दिये गये हैं। सनगांव निवासी किसान मोहम्मद अमीन का कहना है कि दोपहर करीब एक बजे अचानक गेहूं की फसल धू-धू कर जलने की जानकारी हुई तो सभी लोग भाग कर खेतों में पहुंचे, लेकिन आग का रूख इतना तेज था कि कोई करीब पहुंच ही नहीं पा रहा था। उन्होने कहा कि थाना पुलिस और फायर ब्रिगेड को तत्काल जानकारी दी गई, लेकिन दोनो ही विभाग के जिम्मेदार दो घंटे तक नहीं आये। ग्रामीणों ने नलकूपों को चालू कर आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया। बड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। किसान अमीन की माने तो करीब तीन सौ बीघा गेहूं की फसल जल कर राख हो गई। आग लगने के सवाल पर पर उसने कहा कि आग कैसे लगी किसी को कुछ भी नहीं पता। एक किसान के खेत में हार्वेस्टर से गेहूं की फसल काटी जा रही थी, वह भी आग में स्वाहा हो गई। चालक ने किसी तरह हार्वेस्टर को आग लगने से बचा लिया। घटना को लेकर फायर बिग्रेड के एफएसओ से बात की गई तो उन्होने कहा कि नुकसान कितना है इसका आंकलन बिना सर्वे कराये नहीं बताया जा सकता है। यह जरूर है कि सौ बीघा से अधिक की गेहूं की फसल जलकर खाक में मिल गई। मौके पर वाहन नहीं पहुंचने की बात करते हुये एफएसओ ने कहा कि सकरी पुलिया के चलते दो बड़े बाहन आधा घंटा से रास्ते में ही खड़े हैं। रास्ता खोजा जा रहा है। छोटा फायर वाहन मौके पर पहुंच चुका था। उन्होने बताया कि काफी देर बाद आग पर काबू पाया जा सका।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages