पैगम्बरे इस्लाम पर अभद्र टिप्पणी करने पर नरसिंहानन्द के खिलाफ जताई नाराजगी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, April 13, 2021

पैगम्बरे इस्लाम पर अभद्र टिप्पणी करने पर नरसिंहानन्द के खिलाफ जताई नाराजगी

सूफी इस्लामिक बोर्ड ने बैठक कर कार्रवाई की उठायी मांग 

कारी नूरी मिया को जिला प्रवक्ता पद पर किया मनोनीत 

फतेहपुर, शमशाद खान । पैगम्बरे इस्लाम हजरत मोहम्मद स0अ0 पर दिल्ली के प्रेस क्लब में वार्ता के दौरान हिन्दूवादी नेता नरसिंहानन्द सरस्वती द्वारा की गयी अभद्र टिप्पणी को लेकर मुस्लिम समुदाय में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। मंगलवार को सूफी इस्लामिक बोर्ड के पदाधिकारियों ने बैठक कर नरसिंहानन्द सरस्वती के खिलाफ जहां अपने गुस्से का इजहार किया वहीं निर्णय लिया गया कि जल्द ही जिलाधिकारी से मिलकर एक ज्ञापन सौंपा जायेगा। बैठक के बाद कारी नूरी मियां को जिला प्रवक्ता पद का दायित्व सौंपा गया। 

कारी नूरी मियां को मनोनयन पत्र सौंपते जिलाध्यक्ष मो0 शब्बीर वारसी।

सूफी इस्लामिक बोर्ड की एक बैठक जिलाध्यक्ष मो0 शब्बीर वारसी की अध्यक्षता में आयोजित हुयी। बैठक में पैगम्बरे इस्लाम हजरत मोहम्मद स0अ0 पर अभद्र टिप्पणी करने पर नरसिंहानन्द सरस्वती के खिलाफ गुस्से का इजहार किया गया। बैठक को सम्बोधित करते हुए श्री वारसी ने कहा कि पैगम्बरे इस्लाम अम्न और भाईचारे की मिसाल हैं। हजरत मोहम्मद स0अ0 ने दिलों को जोड़ने का काम किया है। उनकी शान में की गयी गुस्ताखी को मुसमलान कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होने कहा कि नरसिंहानन्द सरस्वती का दिमागी संतुलन बिगड़ गया है। पूर्व में भी वह भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम पर अभद्र टिप्पणी कर चुके हैं। जिससे पूरे देश को धक्का लगा था। उन्होने कहा कि ऐसे सिरफिरे इंसान के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा पंजीकृत होना चाहिए। उन्होने कहा कि जल्द ही जिलाधिकारी से मिलकर राष्ट्रपति को सम्बोधित एक ज्ञापन सौंपकर नरसिंहानन्द सरस्वती के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की जायेगी। बैठक के पश्चात जिलाध्यक्ष ने संगठन मजबूती के उद्देश्य से कारी नूरी मियां को जिला प्रवक्ता पद की जिम्मेदारी सौंपी। उनको अपने हाथों मनोनयन पत्र सौंपकर संगठन को मजबूत किये जाने का आहवान किया। जिला प्रवक्ता ने भरोसा दिलाया कि बोर्ड को मजबूती प्रदान करने के लिए वह हरसंभव प्रयास करेंगे। बैठक में सूफी मो0 हारून, रजा साहब, सूफी सईद वारसी, हसीन, रेयाजुल हसन, अब्दुल हसीब आदि मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages