लाकडाउन का हो रहा पालन, पहले दिन सन्नाटे में रहा शहर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, April 24, 2021

लाकडाउन का हो रहा पालन, पहले दिन सन्नाटे में रहा शहर

बेवजह घर से बाहर निकलने वालों को पुलिस ने टोका और रोका 

आवश्यक सेवाएं जारी, शटर गिराकर जमकर हुई दुकानों से बिक्री 

फोटो नंबर-01 व 02:  

बांदा, के एस दुबे । शासन के निर्देश पर शुक्रवार रात 8 बजे से सोमवार की सुबह सात बजे तक 59 घंटे का लाकडाउन घोषित किया गया है। इसको ध्यान में रखते हुए शनिवार को लोग बहुत ही कम अपने घरों से बाहर निकले। पूरे शहर की गलियों में सन्नाटे का आलम रहा। इक्का-दुक्का लोग ही अपने घरों से बाहर निकले। शहर से लेकर गांव तक सड़कें सूनी रहीं। हालांकि हाईवे समेत कुछ सड़कों पर लोगों का आवागमन देखने को मिला। माल वाहनों का आवागमन जारी रहा। शहरी इलाकों में पुलिस और प्रशासन ने ड्रोन कैमरों की मदद से संवेदनशील क्षेत्रों पर नजर रखी गई। जरूरी स्थानों पर नगर पालिका ने सफाई कार्य के साथ ही सैनिटाइजेशन का काम भी

अतिव्यस्त रहने वाले मार्गों पर शनिवार को लाकडाउन के पहले दिन पसरा रहा सन्नाटा

कराया। सड़कों पर सन्नाटे के साथ ही पुलिस वाले ही नजर आए। इक्का-दुक्क लोग घरों से बाहर निकले लेकिन उन्हें आगे जाने के लिए पुलिस को कारण बताना पड़ा। मेडिकल स्टोरों को छोड़ लगभग सभी दुकानें बंद रहीं। शहर के बाबूलाल चैराहा, आजाद नगर, महाराणा प्रताप चैक, कालूकुआं, जिला परिषद, छोटी बाजार, अलीगंज, अतर्रा चुंगी, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड आदि इलाकों में पुलिस टीमें मुस्तैद रहीं। शहरी व ग्रामीण हाट-बाजार, गल्लामंडी व अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे। बेवजह घर से बाहर निकलने वालों को पुलिस ने टोंका और रोका। इसके बाद हिदायत देकर उन्हें घर जाने दिया गया। दोपहर के समय तो चैराहों पर तैनात रही पुलिस भी गायब नजर आई। बावजूद इसके लोगों ने लाकडाउन का पूरी शिद्दत के साथ पालन किया। कोरोना संक्रमण की चेन को


तोड़ने के लिए पहले नाइट कफ्र्यू और अब वीकेंड दो दिवसीय लाकडाउन चल रहा है। लाकडाउन के पहले दिन शनिवार को सड़कों पर सन्नाटा नजर आया। इक्का-दुक्का लोग ही दिखे। इसके साथ ही आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति और परिवहन का सिलसलिा जारी रहा। बाजारों में शटर जरूर बाहर से बंद रहे, लेकिन अंदर ही अंदर काम हुआ और आवश्यक चीजों की जमकर बिक्री की गई। इधर, पुलिस ने भी बेवजह घर से बाहर निकलने वालों को रोका और टोका। दोपहर के समय तो विभिन्न चैराहों से पुलिस कर्मी भी गायब नजर आए। सड़कों पर बसों से लेकर अन्य सार्वजनिक वाहन खाली दौड़ते रहे। इस दौरान गली-कूचों में भी इक्का-दुकानें खुली नजर आईं। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages