प्रभाग के किसी भी वृक्षारोपड़ क्षेत्र में नही लगी आग-डीएफओ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, April 6, 2021

प्रभाग के किसी भी वृक्षारोपड़ क्षेत्र में नही लगी आग-डीएफओ


-महुआ बीनने वाले पत्ती साफ करने को रात्रि में लगाते हैं आग
-दोषियों के विरूद्ध विभागीय मामला दर्ज,जांच कर की जा रही कार्यवाही
चित्रकूट,सुखेन्द्र अग्रहरि। प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश ने बताया कि जंगलों में आग लगने का मुख्य कारण ग्रामीणों द्वारा महुआ फूल बीनने के उद्देश्य से  पेड़ के नीचे पत्तियों को साफ करने के लिए रात्रि लगभग 2 से 3 बजे के मध्य आग लगा देते हैं,जिससे  वह आसानी से महुआ फूल एकत्र कर सके। ग्रामीण महुआ की पत्ती में आग लगाकर हट जाते हैं, जिससे आग जंगल में फैल जाती है और विकराल रूप ले लेती है। महुआ फूल के एकत्रीकरण एवं बिक्री से लगभग रु0 5 करोड़ की आय ग्रामीणों/आदिवासियों को होती है। वन क्षेत्र में लगभग 1 लाख से अधिक महुआ के पेड़ है ।लगभग रु0 1000 का महुआ प्रति पेड़ मिलता है।  दिनांक 28. 29 व 30.03.2021 को चित्रकूट वन प्रभाग के अन्तर्गत बरगढ़ रेंज में खण्डेहा, कलचिहा, कटैयाडांडी, कोटा कण्डैला एवं औझर वन ब्लाकों में, कर्वी रेंज के अन्तर्गत देवांगना हवाई पट्टी, सिद्धपुर, कोलगदहिया, कोल्हुआ एवं मड़फा वन ब्लाकों में तथा मारकुण्डी रेंज के अन्तर्गत मडैयन वन ब्लाक में आग लगी हुई थी।
बरगढ़ रेंज के अन्तर्गत लगी आग को दिनांक 30.03.2021 को नियंत्रित कर लिया गया। इस दौरान क्षेत्रीय वनाधिकारी, बरगढ़ के नेतृत्व में लगभग 50 कर्मचारी कार्य करते रहे। समय-समय पर उप जिलाधिकारी, मऊ द्वारा भी मौके का निरीक्षण किया गया तथा आग पर पूर्ण नियंत्रण पा लिया गया।
कर्वी रेंज के अन्तर्गत लगी आग के नियंत्रण हेतु क्षेत्रीय वनाधिकारी, कर्वी के नेतृत्व में टीम गठित कर देवांगना हवाई पट्टी, सिद्धपुर, कोलगदहिया, कोल्हुआ एवं मड़फा वन ब्लाकों में लगी आग को नियंत्रित किया गया। उप जिलाधिकारी, कर्वी द्वारा भी मौके का निरीक्षण किया गया।
मारकुण्डी रेंज के अन्तर्गत मडैयन एवं ददरी वन ब्लाक में लगी आग के नियंत्रण हेतु क्षेत्रीय वनाधिकारी, मारकुण्डी के नेतृत्व में टीम गठित कर आग पर नियंत्रण पाया गया।
मानिकपुर रेंज में गढ़चपा, चूल्ही, चुरेहकेशरूआ आदि वन क्षेत्रों में लगी आग पर कर्मचारियों द्वारा अथक प्रयास कर नियंत्रण कर लिया गया है।आग लगाने वाले दोषियों के विरूद्ध विभागीय एफ0आई0आर0 दर्ज कर अलग से जांच कर कार्यवाही की जा रही है।
रैपुरा रेंज में भी गढ़चपा, हनुवां आदि क्षेत्रों में लगी आग पर कर्मचारियों द्वारा नियंत्रण कर लिया गया है। यह भी उल्लेखीय है कि प्रभाग के किसी भी वृक्षारोपण क्षेत्र में आग नहीं लगी है और न ही कोई वृक्षारोपण प्रभावित हुआ है।
आग के प्रभावी नियंत्रण हेतु सम्पूर्ण प्रभाग में 17 क्रू-स्टेशन स्थापित किये गये हैं, जिस पर लगातार कर्मचारी उपलब्ध रहेंगे तथा प्रभाग स्तर पर कन्ट्रोल रूम स्थापित किया गया है, जिस पर कर्मचारी लगातार 24×7 घण्टे कार्य करेंगे। इस कन्ट्रोल रूम पर कोई भी व्यक्ति अग्नि दुर्घटना से सम्बन्धित सूचना उपलब्ध करा सकता है।इस दौरान उप प्रभागीय वनाधिकारी आर के दीक्षित भी मौजूद रहे।उन्होंने बताया कि इसके अलावा आम जन की
सुविधा हेतु निम्न नम्बरों पर भी अग्नि सम्बन्धी सूचना दे सकते  हैं:-
प्रभागीय कन्ट्रोल रूम 7839435255, 05198-235616
प्रभागीय वनाधिकारी, चित्रकूट 7839435142, 9415212714
उप प्रभागीय वनाधिकारी  9451221849
क्षेत्रीय वनाधिकारी, कर्वी 8318209749
क्षेत्रीय वनाधिकारी, रैपुरा  8115577780
क्षेत्रीय वनाधिकारी, मानिकपुर  8756012019
क्षेत्रीय वनाधिकारी, बरगढ़  9369485484
क्षेत्रीय वनाधिकारी, मारकुण्डी 7839434383
फायर ब्रिगेड 101

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages