जिले में 250 अतिरिक्त बेड की हो व्यवस्था: नंदी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, April 20, 2021

जिले में 250 अतिरिक्त बेड की हो व्यवस्था: नंदी

आक्सीजन सिलेंडर की नहीं आने दी जाए कमी

आरके सिंह पटेेल इंस्टीट्यूट रगौली और आईटीआई भांगा शिवरामपुर में होंगे 100-100 बेड के प्रबंध

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। प्रदेश के विभिन्न जनपदों में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए प्रभारी मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने मंगलवार को जनपद की स्वास्थ्य सुविधाओं और कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए जिम्मेदार अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक की। स्वास्थ्य सुविधाओं की संपूर्ण जानकारी लेते हुए अधिकारियों को एक सप्ताह के अंदर 250 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। कहा कि कोरोना पाॅजीटिव मरीजों के इलाज व संक्रमण को रोकने की प्रक्रिया में किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए।

वर्चुअल बैठक में समीक्षा करते प्रभारी मंत्री।

मंत्री नन्दी ने जिलाधिकारी शुभ्रांत कुमार शुक्ला व प्रभारी सीएमओ डा. इम्तियाज अहमद के साथ वर्चुअल बैठक कर स्वास्थ्य सेवाओं से सम्बंधित एक-एक मुद्दे पर सवाल करते हुए गहन समीक्षा की। डीएम ने बताया कि जनपद में इस समय करीब 350 बेड की व्यवस्था है। प्रतिदिन करीब 125 पाॅजीटिव केस के मामले सामने आ रहे हैं। मंत्री ने पूछा कि कोरोना से अब तक कितनी मौत हुई? तो अधिकारियों ने बताया कि पिछले वर्ष से लेकर अब तक 18 मौत हुई है, जिनमें इस बार की संख्या चार है। आईसीयू और वेंटीलेटर बेड की क्षमता के बारे में पूछे जाने पर बताया गया कि 10 वेंटीलेटर और 10 आईसीयू क्रियाशील हैं। निजी चिकित्सालयों के बारे में पूछे जाने पर प्रभारी सीएमओ ने बताया कि चित्रकूट में एक भी निजी चिकित्सालय अनुमन्य नहीं है। केवल एल-2 हाॅस्पीटल ही उपलब्ध है। एल-3 की स्थिति में मरीज को बांदा या प्रयागराज भेजा जाता है। कोविड पाॅजीटिव मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या को देखते हुए मंत्री नन्दी ने डीएम और एसएसपी को एक सप्ताह के अंदर 250 बेड की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। प्रभारी सीएमो ने बताया कि आरके सिंह पटेेल इंस्टीट्यूट रघौली और आईटीआई भांगा शिवरामपुर में जल्द ही 100-100 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की जा रही है। 

मंत्री ने कहा कि कोविड पाॅजीटिव मृतकों के अंतिम संस्कार सम्मानपूर्वक, कोविड प्रोटोकाॅल के साथ किए जाएं। इसमें किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए। प्रभारी सीएमओ ने बताया कि प्रतिदिन करीब 500 आरटीपीसीआर की जांच कराई जा रही है। मंत्री ने होम आईसोलेशन में इलाज करा रहे लोगों की संख्या और ईलाज के बारे में जानकारी ली। प्रभारी सीएमओ ने बताया कि कुल 972 मरीज इस समय आइसोलेशन में हैं। जिनकी आआरटी टीम के जरिये निगरानी की जा रही है। इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर के जरिये काॅल किया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवाओं को और बेहतर बनाए जाने की जरूरत है। कहा कि आक्सीजन सिलेंडर के लिए लोगों को परेशान न होना पड़े इसके विशेष ध्यान रखा जाए। प्रभारी सीएमओ ने बताया कि अभी आठ दिन के लिए आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध है। थोड़ी क्राइसेस की स्थिति बनी हुई है। मंत्री नन्दी ने प्रभारी सीएमओ डा. इम्तियाज से कहा कि पूरी जिम्मेदारी के साथ काम करें, जो भी समस्या आ रही है तो अवगत कराएं। जिसका तत्काल निरारकरण कराया जा सके। जिलाधिकारी शुभ्रांत शुक्ला में अस्पतालों में मैन पाॅवर की कमी से अवगत कराया।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages