हर गरीब को सरकार दे रही खाद्यान्न योजना का लाभ- अंजनी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, February 18, 2021

हर गरीब को सरकार दे रही खाद्यान्न योजना का लाभ- अंजनी

निःशक्तों को घर बैठे विभाग पहुंचा रहा राशन

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रदेश सरकार की पहल पर पारदर्शी तरीके से हर गरीब तक राशन उपलब्ध कराने के किये जा रहे निःशुल्क खाद्यान्न वितरण से समाज के सभी वर्ग लाभान्वित कराया जा रहा है। निःशक्तों को निःशुल्क राशन उपलब्ध कराने के लिये कार्ड धारकों तक विभाग द्वारा उनके दरवाजे तक राशन पहुंचाया जा रहा है। उक्त बातें जिला पूर्ति अधिकारी अंजनी कुमार सिंह ने पत्रकारो से रूबरू होते हुए कही।

गुरुवार को पटेल नगर स्थित अपने कार्यालय में प्रदेश सरकार के चार वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में अपने विभाग द्वारा किये गये कार्यो का लेखा जोखा जारी करते हुए जिला पूर्ति अधिकारी अंजनी कुमार सिंह बताया कि प्रदेश सरकार के गठित होने के बाद सरकार द्वारा वास्तविक पत्रों तक योजनाओं का लाभ पहुंचाये जाने के लिये राशन कार्डों को आधार कार्ड से जोड़ने के साथ ही अन्य सभी सदस्यों के नाम फीडिंग का कार्य पूरा करके प्रदेश में जनपद ने प्रथम स्थान हासिल किया हैं। उन्होंने बताया कि राशन विक्रेताओं द्वारा खाद्यान्न वितरण में धांधली करने

पत्रकारों से बातचीत करते जिला पूर्ति अधिकारी।

वाले दुकादनारों पर कार्रवाई करने के साथ ही दुकानों के निरस्तीकरण की कार्रवाई की गई है। जनपद में 494038 राशन कार्डों में 1965699 यूनिट का राशन वास्तविक पात्रों तक उपलब्ध कराने के लिये राशन का वितरण ई-पास मशीनों द्वारा वितरित किया जा रहा है। सरकार द्वारा वन नेशन वन कार्ड द्वारा प्रवासी श्रमिको को राशन उपलब्ध कराया गया। अपने कार्यकाल का विवरण देते हुए बताया कि अब तक जनपद के 55321 दिव्यांगों को राशन कार्डों की सुविधा उपलब्ध कराई जा चुकी है जबकि असहाय व निःशक्तों को राशन उपलब्ध कराने के लिये विभाग खुद उनके द्वार तक खाद्यान्न भेजने की योजना को संचालित किया जा रहा है। साथ ही ऐसे वृद्धजन जिनके फिंगर प्रिंट मिलान में समस्या है उनके लिये अलग दिवस में राशन वितिरित करने की व्यवस्था की गई है। साथ ही बताया कि प्रदेश में राशन वितरन में सर्वोच्च पारदर्शिता होने के कारण ही राष्ट्रपति द्वारा प्रदेश को रजत पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उन्होंने बताया कि चार वर्षों में खाद्यान्न वितरण में धांधली करने कर मामलों में 55 एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही 199 दुकानों को निलंबित करने व 229 दुकानों को निरस्त करते हुए 5 व्यक्तियों की गिरफ्तारी कराई गयी है। जिनसे 1427000 रुपये की धनराशि जब्त करने के साथ ही 10266877 धनराशि की वस्तुओं को जब्त किया गया हैं। उन्होंने बताया कि गरीबों के खाद्यान्न पर बुरी नजर रखने वाले कोटेदारों को कतई बख्शा नहीं जायेगा। प्रदेश सरकार के निर्देशन में खाद्य एव आपूर्ति विभाग द्वारा वास्तविक पत्रों तक खाद्यान उपलब्ध कराने के लिये पैनी नजर रखी जा रही है। विभाग की योजना से वास्तविक पात्र वंचित न रह सके। साथ ही आपत्रों को योजना में शामिल होने से रोका जा सके।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages