राज्य मंत्री ने शहीद स्मारक का किया लोकार्पण - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, February 4, 2021

राज्य मंत्री ने शहीद स्मारक का किया लोकार्पण

चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव पर जिला प्रशासन समेत जन प्रतिनिधियों ने शहीदों को नमन कर अर्पित की श्रद्धांजलि

विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने निकाली प्रभातफेरी

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। चैरी चैरा शताब्दी महोत्सव के अवसर पर जिले के शहीद स्मारक का लोकार्पण लोनिवि राज्य मंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल, मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी ने फीता काटकर किया। शहीद स्मारक स्तंभ पर पुष्प अर्पित कर स्मारक स्थल में पौधे लगाए। तत्पश्चात रैली को हरी झंडी दिखाई। तदोपरांत शहीद स्मारक स्थल पर विधायक मानिकपुर आनंद शुक्ला, भाजपा जिलाध्यक्ष चंद्र प्रकाश खरे आदि की उपस्थिति में वंदे मातरम गायन, अमर शहीदों के परिवारिकजनों को सम्मानित किया गया। विभिन्न कार्यक्रम भी हुए। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा एलईडी वैन के माध्यम से प्रधानमंत्री का उद्बोधन भी सुनाया गया।


फीता काटते मंत्री।

विधायक मानिकपुर आनंद शुक्ला ने कहा कि अमर शहीदो को नमन करें। चैरी चैरा जनक्रांति शताब्दी वर्षभर मनाना है। इतिहास में चैरी चैरा कांड लिखा गया था। इतिहास सामर्थ्यवानों का लिखा जाता है। जनक्रांति कहेंगे तो आम जनमानस की क्रांति कहेंगे। वर्ष 2014 के बाद एक नई जनक्रांति आई। ऐसे तमाम विषयों को भाजपा की सरकार अपनाकर कार्य कर रही है। शहीद भगत सिंह को आतंकवाद बताया गया था। इस जनक्रांति में तमाम किसान शहीद हुए थे। महात्मा गांधी के द्वारा चलाए गए असहयोग आंदोलन में गरम दल और नरम दल दोनों की भूमिका रही है। आज देश की आजादी से खुले में सांस ले रहे हैं। कहा कि प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री ने इस जन शताब्दी को मनाने का निर्णय लिया। जिला प्रशासन ने शहीद स्मारक की स्थापना किया जो इस जनपद में नहीं था। जिलाधिकारी सहित प्रशासन बधाई योग्य हैं। इस चैराहे का नाम अब शहीद स्मारक चैराहा के नाम से पुकारा जाए। देश के निर्माण पर क्या कर सकते हैं उसमें सकारात्मक रूप से भूमिका निभाना है। भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष चंद्र प्रकाश खरे ने कहा कि चैरी चैरा जनक्रांति 4 फरवरी 1922 को हुई थी। जिसमें पुलिस चैकी को जला दिया गया था। 22 जवानों की जलकर मृत्यु हुई थी। यह पहली बार आजाद देश में शहीद दिवस मनाया जा रहा है। अल्प समय में जिले में स्मारक का निर्माण हुआ। आजादी की लड़ाई में बलिदान हुए शहीदों को वह नमन करते हैं। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने कहा कि कितने संघर्षों के बाद आजादी मिली और असहयोग आंदोलन में जन जन का सहयोग रहा। इतने बलिदानों के बाद ही सामाजिक जीवन जी रहे इतिहासकारों के मत में जो मत हो लेकिन यह क्रांतिकारी घटना जिसमें लोगों ने अपने जीवन का बलिदान किया। हमारे अंदर इतना जज्बा होना चाहिए। अंग्रेजों के जमाने में उन्होंने संघर्ष किया और स्वतंत्रता दिलाई। अमर शहीदों, सपूतों ने अपने जान की न्योछावर कर आजादी दिलाई। चाहे वह चीन या पाकिस्तान से युद्ध हुआ हो। उन्होंने यह दिखाया उसीका आज यह परिणाम है। उन्होंने अमर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित किया। कहा कि जनपद में कहीं पर शहीद स्मारक नहीं था और जनपद में चार शहीद है। जिसको देखते हुए इस पार्क को 24 घंटे के अंदर अधिकारियों की टीम ने शहीद पार्क तैयार किया है। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने कहा कि चैरी चैरा कांड का शताब्दी समारोह प्रदेश में मनाया जा रहा है। भारत को आजादी के लिए वीर सपूतों ने बलिदान और त्याग किया है। कार्यक्रम एक वर्ष विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर  मनाया जायेगा। महात्मा गांधी ने असहयोग आंदोलन किया। जिसमें सभी वर्ग के लोग पहली बार जुड़े थे। वह पहला आंदोलन था। लोगों को देश हित में कार्य करना चाहिए। चाहे जिस स्तर जिस क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं उसमें जो भी निर्णय ले वह समाज व देश के हित पर हो। किसी के भय से समाज हित में गलत भाव नहीं लेना चाहिए। मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी ने कहा कि आज चोरी चोरा काण्ड के सौ वर्ष पूरे होने पर इसमें विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जनपद में पहली बार शहीद स्मारक स्थापित किया गया है। अमर सपूतों का बलिदान हमेशा याद रखें। कार्यक्रम के दौरान चित्रकूट इंटर कॉलेज के शिक्षक लालमन, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज कर्वी की छात्रा रश्मि देवी ने अमर शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि गीत प्रस्तुत किए। संचालन शिक्षक साकेत बिहारी शुक्ल ने किया। इस मौके पर अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र कुमार राय, उप जिलाधिकारी कर्वी राम प्रकाश, जिला विद्यालय निरीक्षक बलिराज राम, उप निदेशक कृषि टीपी शाही, डीसी एनआरएलएम राम उदरेज यादव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओमकार राणा, पर्यटन अधिकारी शक्ति सिंह, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद कर्वी नरेंद्र मोहन मिश्र, जिला पंचायत राज अधिकारी संजय कुमार पांडेय, सांसद प्रतिनिधि शक्ति प्रताप सिंह तोमर, राजकुमार त्रिपाठी, पंकज अग्रवाल, स्काउट शिक्षक सुरेश कुमार सहित विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राएं, शिक्षक मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages