छह सैकड़ा से ज्यादा कर्मियों ने लगवाया टीका - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, February 15, 2021

छह सैकड़ा से ज्यादा कर्मियों ने लगवाया टीका

173 कर्मियों ने वैक्सीनेशन कराकर ली बूस्टर डोज 

दूसरी डोज से शरीर में पर्याप्त मात्रा में बढ़ेगी एंटीबाडी

लाभार्थियों को बूथ तक लाने के लिए किया काल व मैसेज 

बांदा, के एस दुबे । पहले चरण के पहले दिन यानी 16 जनवरी को कोविड वैक्सीन लगवा चुके स्वास्थ्य कर्मियों को सोमवार बूस्टर डोज दिया गया। दोपहर तीन बजे तक जनपद में 263 में से 173 कर्मियों ने दूसरी डोज लगवाई। इसके साथ ही मापअप राउंड में छूटे हुए 1672 कर्मियों चिन्हित किया था। जिसमें 606 कर्मियों ने टीका लगवाया। स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए जिला अस्पताल सहित 11 स्थलों पर वैक्सीनेशन अभियान चलाया। 

जिला अस्पताल में टीका लगवाते सीएमएस डा.उदयभान सिंह

मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एनडी शर्मा ने बताया कि छूटे हुए स्वास्थ्य कर्मियों और पहली डोज लगवा चुके स्वास्थ्य कर्मियों के लिए माप अप राउंड चलाया गया। लाभार्थियों को बूथ तक लाने के लिए उनका फोन कॉल से सूचना दी गई। मैसेज भी भेजा गया। ताकि समय पर उपस्थित होकर सभी स्वास्थ्य कर्मी वैक्सीन लगवा लें। उन्होंने बताया कि कोविड काल में स्वास्थ्य कर्मियों की भूमिका सबसे अहम रही है। वह असली कोरोना योद्धा रहे हैं। इसलिए सरकार ने सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों के ही टीकाकरण का अभियान शुरू कराया। पहले चरण में बांदा में 6518 स्वास्थ्य कर्मियों के सापेक्ष 4464 का टीकाकरण हो चुका है। इनमें 16 जनवरी को टीका लगवा चुके कर्मियों को दूसरी डोज दी गई, ताकि उन सभी के शरीर में कोरोना के खिलाफ पर्याप्त संख्या में एंटीबाडी बन सके। साथ ही छूटे हुए
निरीक्षण करते सीएमओ डा. एनडी शर्मा

कर्मियों का टीकाकरण भी किया गया। प्रत्येक माप अप राउंड में छूटे हुए स्वास्थ्य कर्मियों का भी टीकाकरण कराया जाएगा। सभी स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी डोज देने के लिए ही माप अप राउंड बीच-बीच में चलाया जाता रहेगा। उन्होंने बताया कि दूसरी डोज 28 दिन पर जा रही है। इसके 14 दिनों बाद यानी 42 दिन पर शरीर में एंटीबाडी बनेगी। इसलिए जो लोग पहली डोज लगवा चुके हैं, उन्हें दूसरी भी अनिवार्य रूप से लगवानी चाहिए। जिला अस्पताल में बने टीकाकरण केंद्र में सीएमओ के अलावा जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. एमसी पाल, डब्ल्यूएचओ एसएमओ डा. मीनाक्षी, यूनिसेफ रीजनल कोआर्डिनेटर हरेंद्र पंवार व जिला समन्वयक फुजैल सिद्दीकी, आरआई राधा शर्मा, सीएमएस डा. उदयभान सिंह, यूएचसी प्रेमपाल सहित स्टाफ मौजूद रहा। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages