डीएम ने चौपाल में योजनाओं का किया सत्यापन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, February 25, 2021

डीएम ने चौपाल में योजनाओं का किया सत्यापन

अधूरे शौचालय, मनरेगा भुगतान की शिकायत पर डीएम ने जांच के दिए निर्देश

सचिव व निवर्तमान प्रधानों को दी चेतावनी

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय ने विकासखंड मानिकपुर के ग्राम पंचायत रुखमा बुजुर्ग के प्राथमिक विद्यालय नया पुरवा के प्रांगण पर जन चैपाल लगाकर विकास कार्यो का सत्यापन कर ग्रामवासियों की समस्याओं को सुना।

जिलाधिकारी ने हैंडपंप संचालन, मनरेगा के कार्य, पंचायत भवन को सचिवालय में परिवर्तन, अविवादित वरासत, सामुदायिक शौचालय निर्माण, स्वच्छ शौचालय, प्रधानमंत्री आवास, पेंशन योजनाएं, किसान सम्मान निधि, खाद्यान्न वितरण, आंगनबाड़ी केंद्रों का संचालन में ड्राई राशन व दूध घी का वितरण, राज्य वित्त तथा 14वां वित्त के कार्य, विद्युत, पेयजल आदि की समीक्षा की तथा विकास कार्यों का ग्रामवासियों के समक्ष सत्यापन भी किया गया।

चौपाल में सत्यापन करते डीएम।

जिलाधिकारी ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों व स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से ड्राई राशन व दूध, घी के वितरण की जानकारी की। उन्होंने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से कहा कि गांव में कुपोषण के बारे में जानकारी दें। कुपोषित परिवारों को ड्राई राशन आदि का वितरण सही तरीके से कराएं। जिनके बच्चे अति कुपोषित है उसमे आंगनबाड़ी का सहयोग करें तथा उन्हें दूध, घी अवश्य दिलाएं। जिस मां के पेट में बच्चा है उसे आयरन वाली सब्जियों आदि पौष्टिक आहार के खाने की सलाह दें। ताकि बच्चा स्वस्थ पैदा हो। आंगनवाडी कार्यकत्रियों, स्वयं सहायता समूह की महिलाओं व कुपोषित बच्चों के परिवारों का संवाद कार्यक्रम भी जिला प्रशासन द्वारा शुरू कराने का कार्यक्रम बनाया गया है। इसमें उन गरीबों कुपोषित परिवारों को जागरूक कर उन्हें स्वास्थ्य लाभ दिलाया जा सके। उन्होंने कहा कि महिलाओं को बताएं कि बच्चा पैदा करने में तीन वर्ष का गैप अवश्य होना चाहिए। तभी बच्चा स्वस्थ पैदा होगा। एएनएम से कहा कि कुपोषित बच्चों को पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराकर स्वास्थ्य लाभ दिलाएं तथा महिलाओं को स्वास्थ्य के बारे में अधिक से अधिक जानकारी दी जाए। समय पर आयरन की गोलियां व अन्य दवाएं भी दें। किसान सम्मान निधि की समीक्षा पर जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि इस ग्राम पंचायत में 1045 किसानों का पंजीकरण के सापेक्ष 868 किसानों को पैसा मिल रहा है। जिन लोगों के खाता व आधार नंबर गलत है वह सही कराए जा रहे हैं। इस पर जिलाधिकारी ने किसानों से कहा कि जिन किसानों को किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं मिल रहा है वह अपना आवेदन पत्र आज ही भरा ले। उन्होंने ग्रामवासियों से कहा कि इस समय वरासत का अभियान चल रहा है। जिन परिवारों के मुखिया की मृत्यु होती है तो उनके बच्चों के नाम खतौनी में दर्ज किए जाते हैं। इस ग्राम में 55 लोगों के मृत्यु होने पर वरासत की गई है। जिन्हें खतौनी भी उपलब्ध कराया गया है। गौशाला की समीक्षा करते हुए पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए की मौके पर जाकर गौशाला के संचालन का निरीक्षण कर अवगत कराएं। उन्होंने कहा कि पेंशन संबंधी जिन लोगों की कोई समस्या हो वह विभागों के काउंटर में आवेदन पत्र भरें। ताकि पेंशन दिलाई जा सके। ग्रामवासियों ने बताया कि शौचालय अधूरे हैं तथा मनरेगा के कार्यों के मजदूरी की धनराशि नहीं दी गई। इस पर जिलाधिकारी ने डीसी मनरेगा को निर्देश दिए कि मनरेगा के सभी कार्यों का निरीक्षण कर जिन लाभार्थियों को धनराशि मजदूरी की नहीं दी गई है उन्हें तत्काल महैया कराएं। शौचालय निर्माण के संबंध में अपर जिला पंचायत राज अधिकारी राजबहादुर को निर्देश दिए कि तीन दिन के अंदर सभी शौचालयों का सत्यापन कर जानकारी दें। अगर कहीं पर कोई अनमितता पाई जा तो संबंधित सचिव तथा निर्वतमान ग्राम प्रधान के खिलाफ कार्यवाही सुनिश्चित करें। उन्होंने लाभार्थियों से भी कहा कि जिन लाभार्थियों के खाते में शौचालय की धनराशि दी गई है वह अपने शौचालय बना ले तथा उनका उपयोग करें। अगर शौचालय नहीं बनाएंगे तो रिकवरी भी कराई जाएगी। जिलाधिकारी ने निवर्तमान ग्राम प्रधान व सचिव को निर्देश दिए कि जो भी विकास कार्य ग्राम पंचायत के अधूरे पड़े हैं उन्हें एक सप्ताह के अंदर पूर्ण करा ले। अन्यथा सख्त कार्यवाही होगी। जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी को निर्देश दिए कि ग्राम पंचायत में काफी समस्याएं प्राप्त हुई हैं। इनके कार्यों की गुणवत्ता की जांच करें। अगर कहीं पर अनमितता पाई जाती है तो संबंधित सचिव तथा ग्राम प्रधान के खिलाफ कार्यवाही सुनिश्चित कराएं। तत्पश्चात जिलाधिकारी तथा मुख्य विकास अधिकारी ने विद्यालय में बने स्मार्ट क्लास का निरीक्षण किया। चैपाल के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, उप जिलाधिकारी मानिकपुर संगम लाल, परियोजना निदेशक अनय कुमार मिश्रा, डीसी मनरेगा प्रदुम्न कुमार यादव, डीसी एनआरएलएम सुदामा प्रसाद, जिला दिव्यांगजन अधिकारी राजेश कुमार नायक, जिला समाज कल्याण अधिकारी डॉ नीलम सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओमकार राणा, जिला पूर्ति अधिकारी धु्रवराज यादव, खंड विकास अधिकारी मानिकपुर सुनील सिंह, तहसीलदार मानिकपुर राजेश कुमार सहित संबंधित अधिकारी व ग्रामवासी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages