कृषि कानूनों से नुकसान नहीं बल्कि अन्नदाता को मिलेगा लाभ: मंत्री - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, February 20, 2021

कृषि कानूनों से नुकसान नहीं बल्कि अन्नदाता को मिलेगा लाभ: मंत्री

80 प्रतिशत अनुदान पर किसानों को उपलब्ध कराए जाएंगे खरीफ के बीज 

बांदा, के एस दुबे । किसानों के जीवन में खुशहाली लाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को खरीफ फसलों के बीज 80 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध कराये जा रहे हैं। इससे बुन्देलखण्ड मण्डल में खरीफ फसलों का आच्छादन बढ़ा है, जिससे प्रदेश में 60 लाख मीट्रिक टन खरीफ फसलों का उत्पादन बढ़ा है। कहा कि नए कृषि कानूनों से किसानों को लाभ होगा। 

क्षेत्रीय किसान मेले को संबोधित करते मंत्री सूर्यप्रताप शाही

यह बात सूबे के कृषि, कृषि शिक्षा और अनुसंधान मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय परिसर में क्षेत्रीय किसान मेले को संबोधित करते हुए कही। दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ करने के बाद वह मौजूद सैकड़ों की संख्या में किसानों को संबोधित कर रहे थे। मंत्री ने कहा कि छोटे किसान एफपीओ बनाकर खेती करें। इससे उनकी आमदनी बढ़ सकेगी। श्री शाही ने कहा कि नये कृषि कानूनों से किसानों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करते हुए एमएसपी डेढ़ गुना की है, जिससे किसानों की आमदनी बढ़ी है। कृषि मंत्री श्री शाही ने कहा कि बुंदेेलखण्ड क्षेत्र में सभी कृषि विज्ञान केन्द्रों पर सीड प्रोसेसिंग
किसान मेले में मौजूद महिला किसान

प्लांट स्थापित कराए गए हैं। इससे किसान अन्न के साथ-साथ उन्नति प्रजाति के बीजों का उत्पादन कर अपनी आमदनी बढ़ा सकते हैं। उन्होंने कहा कि किसान गौ आधारित तथा जैविक खेती को अपनाएं। इससे विभिन्न बीमारियों से बचा जा सके। श्री शाही ने कहा कि भारत सरकार तथा प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए प्रभावी प्रयास किये गये हैं। इससे किसानों का विश्वास बढ़ा है। उन्होंने कहा कि ऋणमोचन योजना के तहत चित्रकूट मण्डल के एक लाख 67 हजार किसानों का 933 करोड़ रूपये का ऋण प्रदेश सरकार द्वारा माफ किया गया। इसी प्रकार चित्रकूटधाम मण्डल में 17 हजार से अधिक तालाब, खेत-तालाब योजना के अन्तर्गत खुदवाये गये हैं। उन्होंने किसानों से अपील की कि वे ‘‘वन ड्राप मोर क्राप’’ के सिद्धान्त को अपनायें तथा ऐसी प्रजातियों की खेती करें जिनमें कम सिंचाई से ही अधिक उत्पादन प्राप्त हो सके।

किसान मेले में मौजूद पुरुष किसान

श्री शाही ने कहा कि चित्रकूटधाम मण्डल के किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत विगत 04 वर्षों में 1870 करोड़ रूपये किसानों को प्रदान किये गये हैं। उन्होंने किसानों से अपील की कि वे किसान मेले से उन्नति कृषि तकनीक की जानकारी कर इसे अपनायें जिससे उनका उत्पादन बढ़ सके। कृषि मंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में पहली बार चना, सरसों इत्यादि की खरीद की गयी जिससे किसानों को लाभकारी मूल्य प्राप्त हो सका है। सांसद बांदा चित्रकूट आरके सिंह पटेल ने कहा कि कृषि विश्वविद्यालय बुन्देलखंड के लिए वरदान साबित हो रहा है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार तथा प्रदेश सरकार किसानों की आमदनी को बढ़ाने तथा खेती को उत्तम बनाने के लिए कार्य कर रही है। इससे खेती लाभदायक हो सके। श्री पटेल ने कहा कि सरकार द्वारा किसानों को लाभकारी मूल्य प्रदान किया गया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से उन्हें बहुत लाभ प्राप्त हो रहा है।
फीता काटकर मेले का शुभारंभ करते मंत्री

उन्होंने कहा कि किसान खेती के साथ-साथ फल और सब्जी का भी उत्पादन करें जिससे उनकी आमदनी बढ़ सके। किसानों को निदेशक कृषि डा. एपी श्रीवास्तव, कुलपति कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय डा. यूएस गौतम, कुलसचिव आरके पवार, उपाध्यक्ष बुन्देलखण्ड विकास बोर्ड अयोध्या सिंह पटेल, प्रबन्ध परिषद के सदस्य राजेश सिंह सेंगर आदि ने संबोधित किया। आयोजन सचिव डा. नरेन्द्र सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित किया। कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने फीता काटकर मेले का शुभारम्भ किया और मेले में लगाये गये स्टालों का निरीक्षण किया। मेले में विश्वविद्यालय के साथ-साथ एनआरएलएम द्वारा भी अपने स्टाल लगाए गए। क्षेत्रीय किसान मेले के शुभारंभ के अवसर पर आयुक्त चित्रकूटधाम मण्डल दिनेश कुमार सिंह, जिलाधिकारी आनन्द कुमार सिंह, जिलाध्यक्ष भाजपा रामकेश निषाद, प्रबंध परिषद के सदस्य बलराम सिंह कछवाह, ममता मिश्रा, मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चन्द्र वर्मा, संयुक्त निदेेशक कृषि उमेश चन्द्र कटियार तथा जनप्रतिनिधि, विभिन्न विभागों के अधिकारी व बड़ी संख्या में किसान उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages