विभागीय बजट से कराएं पौधरोपण का कार्य: जिलाधिकारी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, February 22, 2021

विभागीय बजट से कराएं पौधरोपण का कार्य: जिलाधिकारी

बजट न होने पर प्रस्ताव तैयार करें और उपायुक्त मनरेगा सेल से कराएं स्वीकृत 

बांदा, के एस दुबे । पौधरोपण समिति की बैठक जिलाधिकारी आनन्द कुमार सिंह की अध्यक्षता में कलेक्टेªट सभाकक्ष में आयोजित हुई। इसमें प्रभागीय वनाधिकारी संजय अग्रवाल ने बताया कि 2021-22 में जनपद का कुल लक्ष्य 44.53250 लाख पौधे रोपण किया जाने का है। शासन के टाइम लाइन के अनुसार समस्त विभाग स्थल का चयन कर व गड्ढा खुदान का कार्य 28 फरवरी तक पूर्ण किये जाने का निर्देश मिला है। जिलाधिकारी आनन्द कुमार सिंह ने समस्त विभागों को निर्देशित करते हुए कहा कि वृक्षारोपण का कार्य अपने विभागीय बजट से सभी विभाग करेंगे। 

बैठक को संबोधित करते जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह

जिलाधिकारी ने कहा कि यदि किसी विभाग में विभागीय बजट पर्याप्त नही है तो ऐसी स्थिति में कार्य पूर्ण करने के लिए मनरेगा योजना के अन्तर्गत प्रस्ताव तैयार कर उपायुक्त मनरेगा सेल के माध्यम से स्वीकृत कराया जाए। जिलाधिकारी को बताया गया कि 19 पौधशालायें स्थापित हैं। इन पौधशालाओं में कुल 31,14,115 पौधे विभिन्न प्राजतियों के उपलब्ध हैं। इसमें से शीशम, सागौन, अमरूद, अर्जुन, इमली, आंवला, कंजी, जामुन, नीम, सहजन, अनार, आम इत्यादि 62 प्रजातियों के पौध उपलब्ध हैं। शेष पौधे विभागीय बजट 25.87 लाख पौधे पौधशालाओं में पौध उगाने का कार्य किया जा रहा है। इससे वर्षा काल 2022 में पौधरोपण की पूर्ती की जा सकेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में रोपित किये जाने वाले पौधों की पूर्ति वन विभाग की पौधशालाओं में शत-प्रतिशत की जाएगी। वर्षा काल 2020 में कराये गये वृक्षारोपण की जियो टैगिंग के संबंध में जिन विभागों के द्वारा जियो टैगिंग का कार्य अवशेष है, उसे जल्द पूरा किया जाए। डीएम ने बेसिक शिक्षा, नगर विकास विभाग, रेलवे विभाग, ऊर्जा विभाग, प्राविधिक शिक्षा, कृषि विभाग, ग्राम्य विकास विभाग, पर्यावरण विभाग को जिलाधिकारी ने शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। बैठक में ज्वाइंट मजिस्टेªट/उप जिलाधिकारी सदर सुधीर कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एनडी शर्मा, अपर जिला सूचना अधिकारी शारदा सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

दो क्लीनिकों को सीज करने के डीएम ने दिए निर्देश 

बांदा। जनपद में संचालित दो क्लीनिक आनंद क्लीनिक छावनी, राज क्लीनिक छावनी का बायो मेडिकल अपशिष्ट प्रबन्धन का ऐग्रीमेंट का नवीनीकरण न पाये जाने पर डीएम ने नाराजगी जाहिर की। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को तत्काल सीज करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार होटल, बैंक तथा बैंकवेट हाल आदि के लिए नगरीय ठोस प्लास्टिक वेस्ट प्रबन्धन का अनुपालन न किये जाने पर 64 लाख की आरसी जारी की गई है। जिलाधिकारी द्वारा 52 चिन्हित स्थानों पर निरीक्षण कर जुर्माना लगाकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages