अवैध कार्यों पर अंकुश लगाएं थानाध्यक्ष: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, February 20, 2021

अवैध कार्यों पर अंकुश लगाएं थानाध्यक्ष: डीएम

जिला बदर व अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को चिन्हित कर कार्यवाही के दिए निर्देश

एसपी ने थानाध्यक्षों के कसे पेंच

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय व पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल की उपस्थिति में एसपी कार्यालय के सभागार में अभियोजन एवं कानून व्यवस्था संबंधित बैठक संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी तथा थानाध्यक्षों को निर्देश दिए कि आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर गांववार शांति व्यवस्था के संबंध में बैठक अवश्य करें। गांव का भ्रमण कर पिछले चुनाव में जो व्यक्ति प्रभावशाली व अपराधिक प्रवृत्ति का रहा हो उन व्यक्तियों को चिन्हित कर कार्यवाही कराएं। इसके अलावा भूमि संबंधी जो छोटे विवाद हैं उनका भी समय रहते समाधान करा ले। अवैध खनन पर प्रभावी कार्यवाही हो। सभी थानाध्यक्ष क्षेत्र में सभी व्यवस्थाओं को लागू कर अच्छी तरीके से कार्यों का संचालन करें। छोटी सी लापरवाही के कारण कई मामले बहुत गंभीर रूप धारण कर लेते हैं। जिससे समस्याएं होती हैं। उन्होंने कहा कि

बैठक में निर्देश देते डीएम-एसपी।

थानाध्यक्ष अपने क्षेत्र में चाहें तो एक भी अवैध कार्य नहीं हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग जिला बदर किए गए हैं उन्हें जनपद के बाहर का रास्ता सख्ती से दिखाया जाए। अगर वह जनपद में मिले तो उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएं। ज्येष्ठ अभियोजन अधिकारी को निर्देश दिए कि गैंगस्टर व पास्को एक्ट की नियमित समीक्षा की जाए। उन्होंने कहा कि जो शासन के मुख्य बिंदु हैं उन्हें अधिक ध्यान देने की जरूरत है। उन बिंदुओं पर तेजी से कार्य कराया जाए। उन्होंने कहा कि ओवरलोड वाहनों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्यवाही कराएं। लगातार इसमें शिकायतें प्राप्त हो रही है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि अधिक से अधिक खाद्य सामग्री के नमूने भरे जाएं। कोई समस्या हो तो पुलिस का भी सहयोग लें। औषधि निरीक्षक को निर्देश दिए कि मेडिकल स्टोरों पर छापेमारी प्रगति बढ़ाएं। कार्यवाही भी करें।

पुलिस अधीक्षक ने थानाध्यक्षों को निर्देश दिए कि बैठकों में विभिन्न बिंदुओं की प्रगति पर निर्देश दिए जाते हैं, लेकिन प्रगति नहीं हो रही है। यह स्थिति ठीक नहीं है। जिन थाना क्षेत्र में जितने लाइसेंसधारक हैं उनके आपराधिक इतिहास की समीक्षा कर शस्त्र जमा कराएं। शस्त्र लाइसेंस भी निरस्त कराया जाए। आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दृष्टिगत तथा 107, 16, गुंडा एक्ट पर भी कार्रवाई करें। शासन से निर्देश है कि शत प्रतिशत शस्त्र जमा कराकर रिपोर्ट दें। अवैध शराब, गांजा के खिलाफ भी थाना क्षेत्र में प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित कराएं। बैठक में अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र कुमार राय, अपार उप जिलाधिकारी राजबहादुर, उप जिलाधिकारी राजापुर राहुल कश्यप, मऊ नवदीप शुक्ला, मानिकपुर संगम लाल, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर शीतला प्रसाद पांडेय, मऊ सुबोध गौतम, राजापुर राम प्रकाश सहित संबंधित अधिकारी, शासकीय अधिवक्ता व थानाध्यक्ष मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages