जौहर यूनिवर्सिटी को बचाने की खातिर आगे आया आजमवादी मंच - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, February 4, 2021

जौहर यूनिवर्सिटी को बचाने की खातिर आगे आया आजमवादी मंच

सियासत का आरोप लगाकर कलेक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन 

राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर आजम खान व उनके पुत्र की रिहाई की उठायी मांग

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रदेश सरकार द्वारा द्वेष भावना से प्रेरित होकर सांसद आजम खान द्वारा रामपुर जनपद में बनवाई गयी मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी को बंद किये जाने व चैदह सौ बीघा जमीन छीनने से आक्रोशित आजमवादी मंच ने कलेक्ट्रेट पर पहुंचकर प्रदर्शन किया। तत्पश्चात राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन अपर उपजिलाधिकारी को सौंपकर यूनीवर्सिटी को बहाल किये जाने के साथ ही आजम खान व उनके पुत्र की रिहाई कराये जाने की मांग उठायी। 

कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते आजमवादी मंच के पदाधिकारी।

सपा नेता व आजमवादी मंच के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य मो. फरहान व शबीह हैदर मीनू अगुवई मंे पदाधिकारी कलेक्ट्रेट पहुंचे और राज्यपाल को सम्बोधित एक ज्ञापन अपर उपजिलाधिकारी को सौंपकर कहा कि मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी किसी जाति विशेष की नहीं है। यहां पर सभी जाति एवं धर्म के लोग शिक्षा ग्रहण करते हैं। यहां पर कोई भेदभाव नहीं है। यूनिवर्सिटी पिछले कई महीनों से नफरत और द्वेष भावना तथा राजनीति का शिकार हो रही है कभी इस शैक्षणिक संस्था के मुख्य द्वारा को ध्वस्त करने के सरकारी आदेश आते हैं कभी यहां स्थित अजीम लाइब्रेरी को अपनी नफरत का अड्डा सरकार बनाती है तो कभी इसकी दीवारों पर सरकारी बुलडोजर चलाया जाता है। अब तमाम हदों को पार कर सरकार एक हिटलरशाही फरमान जारी करती है और उस फरमान के आधार पर इस महान शैक्षणिक संस्था पर अपनी मिल्कियत का दावा करते हुए यूनिवर्सिटी बंद कर उन पूंजीपतियों को मजबूत करना चाहती है, जिन्होंने शिक्षा को मात्र व्यापार के रूप में स्थापित कर लिया है। मंच के पदाधिकारियों ने कहा कि सरकार जबरन यूनिवर्सिटी की 14 सौ बीघा छीनने का काम कर रही है। इतना ही नहीं यूनिवर्सिटी के संस्थापक आजम खान को फर्जी मुकदमे में जेल भेज दिया। कुछ दिन बाद आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम को भी जेल भेज दिया गया। सरकार गंदी राजनीति करना छोड़ दें और आजम खान व अब्दुल्ला आजम को सरकार जल्द रिहा करे अन्यथा अजमवादी मंच सड़क पर उतरकर आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। इस मौके पर अनवर अहमद खान, अनवार खान, शादाब अहमद, शमशुल, सैफ, जहीर, हसन, पंकज, ऊधो श्याम, तौहीद अहमद, अनिल कुशवाहा, कपिल गुप्ता, सैफ शेख आदि मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages