एप्पल बेर की खेती ने बदल दी किसानों की किस्मत - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, February 17, 2021

एप्पल बेर की खेती ने बदल दी किसानों की किस्मत

एक एकड़ में किसान कमा रहे 5 लाख तक  

फ़िरोज़ाबाद, विकास पालीवाल ।  यूं तो फिरोजाबाद जिला आलू और गेहूं की खेती के लिए मशहूर है, लेकिन आजकल एप्पल बेर की खेती यहां के किसानों की पहली पसंद बन गया है।  पारंपरिक खेती में ज्यादा मेहनत और कम मुनाफे से परेशान किसान एप्पल बेर की खेती करके खुश हैं । किसान एप्पल बेर की खेती करके लाखों का मुनाफा कमा रहे हैं। आलू आदि की फसलों में होने वाले घाटे की वजह से किसानों का रुझान अब दूसरी फसलों की खेती की ओर बढ़ रहा है।  इसी क्रम में फिरोजाबाद के किसान अब एप्पल बेर की खेती में रुचि दिखा रहे हैं. करीब तीन साल पहले महज पांच किसानों ने इस खेती की शुरुआत की थी, लेकिन आज ऐसे किसानों की लंबी लिस्ट बन गई है। 

 


50 एकड़ जमीन पर हो रही है इसकी खेती  

    शिकोहाबाद निवासी अरुण कुमार ठाकुर किसान है । वो सिरसागंज क्षेत्र के सींगेमयी स्थित पुस्तैनी जमीन पर आलू किया करते थे, लेकिन अब उन्होंने ऐपल बेर के साथ साथ अन्य फलों की खेती कर रहे है । उन्होंने बताया कि एप्पल बेर की फसल में केवल पानी लगाना होता है और पेड़ों के पोषण के लिए वह केंचुए की खाद का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे ही टूण्डला इलाके के गांव चंडिका निवासी सौदान सिंह भी पेशे से किसान हैं । सौदान सिंह पहले गेहूं और आलू की खेती करते थे, लेकिन उन्होंने देखा कि इन फसलों में मुनाफा न के बराबर हो रहा है । 



          - बॉक्स न्यूज़  - 



       5 किसानों ने की थी बेर की खेती की शुरुआत  


   किसानों की आय बढ़वाने के लिए फिरोजाबाद का उद्यान विभाग भी आगे आया है । जिला उद्यान अधिकारी विनय कुमार यादव किसानों को ऐप्पल बेर की खेती करने की सलाह देते हैं । जिला उद्यान अधिकारी बताते हैं कि इस बागवानी को प्रोत्साहित करने के मकसद से सरकार मुख्यमंत्री फलोद्यान योजना के तहत ढाई लाख रुपये प्रति हेक्टेयर अनुदान भी दे रही है।  इस बागवानी में बढ़ते मुनाफे का ही नतीजा है कि तीन साल पहले जहां केवल पांच किसानों ने ही ऐप्पल बेर के बाग लगाए थे, लेकिन अब ऐसे किसानों की संख्या बढ़कर 50 के लगभग हो गयी है।  उद्यान अधिकारी मानते हैं कि इस बागवानी के जरिये किसान चार से पांच लाख रुपये प्रति हेक्टेयर की आमदनी कर सकता है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages