डॉ मृदुला पंडित को दी गई भावपूर्ण विदाई.......... - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, February 1, 2021

डॉ मृदुला पंडित को दी गई भावपूर्ण विदाई..........

देवेश प्रताप सिंह राठौर 

(वरिष्ठ पत्रकार)

उन्नाव जनपद, मृदुला पंडित को कई संस्थाओं ने किया डॉ मृदुला को सम्मानित, उन्नाव के पंडित विश्वम्भर दयालु त्रिपाठी राजकीय जिला पुस्तकालय की पुस्तकालयाध्यक्ष डॉ मृदुला पंडित का विदाई और सम्मान समारोह पुस्तकालय के प्रेक्षागृह में आयोजित किया गया।  अपर जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक राकेश कुमार, नगर मजिस्ट्रेट चंदन पटेल, उपजिलाधिकारी अंकित शुक्ला, फ़िल्म लेखक व निर्देशक डॉ विजय पंडित ने माँ वीणापाणि का पूजन अर्चन व दीप प्रज्ज्वलन कर समारोह की शुरुआत कराई। छात्राओं दीप्ति और आँचल ने सरस्वती वंदना का गान किआ। जिला पुस्तकालयअभिनवीकरण सामिति, साँस्कृतिक संस्था अनुष्ठान, मान्यता प्राप्तपत्रकारअसोसिएशन उत्तर प्रदेश, उदय साँस्कृतिक संस्थान, इंडियन इवेंट सोल्यूशन्स, पुस्तकालय बंधु, लाला लाजपतराय सार्वजनिक पुस्तकालय, महावीर चंद्रसुख सेवा संस्थान, खुश रखें खुश रहें संस्था, पुस्तकालय मित्र संगठन आदि के प्रतिनिधियों ने अलग अलग सम्मान सामग्री भेंट करते हुए डॉ मृदुला पंडित को भावपूर्ण विदाई देते हुए सम्मानित किया। डॉ मृदुला पंडित ने मंचासीन पुस्तकालय के सहयोगी प्रशासनिक अधिकारियों सहित पुस्तकालय के सर्वांगीण विकास में पिछले कई दशकों से निःस्वार्थ सहयोग कर रहे वरिष्ठ पत्रकार डॉ सुधीर शुक्ला, पुस्तकालय प्रभारी सुरभि श्रीवास्तव, पुस्तकालय के स्थापना वर्ष 1982 से जुड़े देवी बक्श सिंह कनौजिया प्रधान जी, वरिष्ठ रंगकर्मी व फ़िल्म टीवी एक्टर जब्बार अकरम, सांस्कृतिक समन्वयक व कैरियर गाइड डॉ मनीष सिंह सेंगर, सफाई सेविका कामिनी आदि को प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। डॉ सुधीर शुक्ला ने डॉ पंडित के तीन दशकों से जिला पुस्तकालय और उत्तर प्रदेश शासन के लिए योगदान और उपलब्धियों की रिपोर्ट प्रस्तुत की। ओज के कवि उमाशंकर यादव ने डॉ मृदुला के व्यक्तित्व पर स्वरचित कविता पढ़ी। प्रधान जी, डॉ राजीव अवस्थी, फ़िल्म एक्टर जब्बार अकरम, नर्सिंग ऑफिसर विशाल शुक्ला, बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन के स्टेट कोऑर्डिनेटर रामेंद्र द्विवेदी, राहुल द्विवेदी आदि ने डॉ मृदुला पंडित के पुस्तकालय, पुस्तकालय विज्ञान और पुस्तकालय प्रशिक्षुओं के उत्थान में  राष्ट्रीय, प्रदेश और जनपद स्तर पर किये गए प्रयासों और लाभकारी प्रोजेक्ट पर विस्तार से व्याख्या की। मंचासीन प्रशासनिक सहयोगियों ने डॉ मृदुला के बहुआयामी कार्यों


की बार बार प्रशंसा करते हुए हुए कहा कि आपके जैसे समाजहित में समर्पित अधिकारी कभी सेवा निव्रत्त नहीं होते बल्कि सेवा अवधि के समापन के बाद आप स्वछंद भाव से पूरे समाज के हित मे प्रयासों के लिए तैयार हैं। इस अवसर पर मुम्बई से पधारे फ़िल्म लेखक व निर्देशक डॉ विजय पंडित ने अनुष्ठान परिवार से जुड़े वरिष्ठ रंगकर्मियों और पुस्तकालय के सक्रिय सहयोगियों को अपने उद्बोधन से उर्ज्वान्वित करते हुए डॉ मृदुला के स्वस्थ और समृद्ध भविष्य की शुभकामनाएं दीं। प्रांत गौरव त्रिपाठी जी की बहू पूजा त्रिपाठी, पुस्तकालय समन्वयक पूजा पाठक, रंगकर्मी हेलाल हैदर रिज़वी, शिक्षा विभाग से लल्लन कुमार, वरिष्ठ साहित्यकार अमूल्य शुक्ला व सुषमा शुक्ला, मुकेश श्रीवास्तव, रवि शंकर, चंद्र प्रकाश, हरि शंकर शुक्ला, मोहित आशीष, रवीन्द्र, आरिफ़, नरेंद्र कुमार आदि सहित कई दर्जन सहयोगियों ने डॉ पंडित को सम्मानित कर शुभकामनाएं दी। डॉ मृदुला पंडित ने अपने भावपूर्ण उद्बोधन में सबको धन्यवाद देते हुए कहा कि मेरा जीवन पुस्तकालय के विकास में समर्पित था और आगे भी रहेगा और अब बिना किसी बंदिश के मैँ पुस्तकालय के बेरोजगार बंधुओं और ज्यादा से ज्यादा पुस्तकालयों की स्थापना और उनके प्रचार प्रसार में शासन और प्रशासन के सहयोग से पूरे जीवन प्रयासरत रहूंगी। डॉ मृदुला की पुस्तकालय को आधार मानते हुए पिछले तीन दशक से अर्जित तमाम उपलब्धियों और उन्नाव में आयोजित 6 राष्ट्रीय स्तर के पुस्तक मेलों से जुड़े संस्मरणों का चित्रण करते हुए समारोह का संचालन कैरियर गाइड डॉ मनीष सिंह सेंगर ने किया। पुस्तकालय प्रभारी सुरभि श्रीवास् ने नम आंखों से विदाई देते हुए शुभकामनाओं के साथ सभी के प्रति आभार जताया है ।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages