प्यार में धोखा: शिवानी का हत्यारा निकला प्रेमी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, February 10, 2021

प्यार में धोखा: शिवानी का हत्यारा निकला प्रेमी

नवम्बर 2020 में भगाकर सेवमरामऊ गांव लाया था प्रेमी

प्रेम-प्रसंग में मनमुटाव होने पर दो साथियों के साथ मिलकर की थी हत्या

चार दिन पूर्व मिली सिर कटी लाश का पर्दाफाश, तीन गिरफ्तार

फतेहपुर, शमशाद खान  । प्यार में अंधा विश्वास करके प्रेमी के साथ तीन माह पूर्व भागकर आयी युवती को प्यार में धोखा मिला। प्रेम-प्रसंग में हुए मनमुटाव के चलते उसके प्रेमी ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर युवती को जान से मारकर उसका सिर काटकर शव को फेंक दिया था। चार दिन पूर्व पुलिस ने सिर कटी लाश बरामद की थी। इस घटना का असोथर व स्वाट टीम ने सफल अनावरण करते हुए प्रेमी संग उसके दो अन्य साथियों को आला कत्ल समेत गिरफ्तार कर जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया। 

पुलिस लाइन के सभागार में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल ने बताया कि छह फरवरी को असोथर थाना क्षेत्र के अन्तर्गत ग्राम सरवल में फइया दुबे के सरसों के खेत में एक अज्ञात महिला का सिर कटा शव बरामद हुआ था। जिसको लेकर स्थानीय थाने पर मुकदमा दर्ज किया गया था। मृतका के शव के

पत्रकारों से बातचीत करते एसपी सतपाल अंतिल एवं पीछे पुलिस की गिरफ्त में अभियुक्त।

पास से एक कागज के टुकड़े पर दो मोबाइल नम्बर अंकित मिले थे। जिन नम्बरों को सर्विलांस टीम द्वारा प्राप्त सीडीआर के अवलोकन से घटना का अनावरण किया गया। एसपी ने बताया कि असोथर थाना पुलिस व स्वाट की टीम ने घटना में शामिल प्रेमी समेत उसके तीन साथियों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गये अभियुक्तों ने अपने नाम भोला दुबे पुत्र रामभवन दुबे, अमित दुबे पुत्र प्यारेलाल दुबे निवासीगण सेवरामऊ थाना गाजीपुर व उमेश चन्द्र तिवारी उर्फ मुन्ना तिवारी पुत्र रामनारायण तिवारी निवासी दांदो थाना कमासिन जनपद बांदा बताया। मृतका शिवानी के प्रेमी भोला दुबे ने बताया कि माह नवम्बर में प्रेमिका शिवानी पुत्री स्व0 सुखई निवासी आदमपुर नौबस्ता थाना गोसाईगंज जनपद लखनऊ को भगाकर लाया था। आपसी प्रेम प्रसंग में मनमुटाव के कारण उसके अपने साथियों की मदद से दुपट्टे से गला घोंटकर पहले उसकी हत्या की बाद में उसका सिर काटकर धड़ को ग्राम सरवल में सरसों के खेत में छोड़कर साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से सिर को बैग में भरकर कुएं में फेंक दिया था। एसपी ने बताया कि शिवानी के लापता होने की सूचना पर गोसाईगंज थाने पर गुमशुदगी दर्ज थी। जिसकी विवेचना प्रचलित थी। गिरफ्तार अभियुक्तों की निशादेही पर मृतका का सिर शंकर जी के मंदिर के पास झल्लर दुबे के कुआं से बरामद किया गया। साथ ही हत्या में प्रयुक्त मोटरसाइकिल यूपी-90क्यू/8557 व आला कत्ल पांच चाकू बरामद किये। पुलिस ने पकड़े गये अभियुक्तों को जेल भेज दिया है। घटना का जल्द अनावरण करने पर पुलिस टीम को एसपी ने पन्द्रह हजार रूपये का ईनाम देकर हौसला अफजाई की। खुलासा करने वाली टीम मंे असोथर थानाध्यक्ष रणजीत बहादुर सिंह, हेड कांस्टेबल वशिष्ठ सिंह, कांस्टेबल आशीष कुमार यादव, अजीत कुमार सिंह, योगेश कुमार राय, विनोद कुमार के अलावा स्वाट प्रभारी विनोद मिश्रा, उपनिरीक्षक विपिन प्रकाश सिंह, विपिन कुमार यादव, हेड कांस्टेबल राजेश सिंह, जावेद, कांस्टेबल पंकज सिंह, अजय, अतुल, विपिन, रविशंकर दुबे शामिल रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages