घरेलू स्टार्टअप से महिलाएं स्वरोजगार की दिशा में हो रहीं अग्रसर: अवस्थी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, February 19, 2021

घरेलू स्टार्टअप से महिलाएं स्वरोजगार की दिशा में हो रहीं अग्रसर: अवस्थी

उद्यमिता एवं नवाचार को बढ़ावा देने के लिए कार्यशाला आयोजित

फतेहपुर, शमशाद खान । डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के तहत उद्यमिता एवं नवाचार को बढ़ावा देने के लिये एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में आईटीआई से आये मुख्य वक्ता पीके अवस्थी ने कहा कि समय तेजी से बदल रहा है और घरेलू स्टार्टअप से महिलाएं स्वरोजगार की दिशा में अग्रसर हैं। उन्होंने कहा कि अगर छात्राओं में अपने पैरों पर खड़े होने का जुनून हो तो वे हुनरमंद होने के साथ-साथ आसानी से आत्म निर्भर हो सकती हैं। उन्होंने आईटीआई में संचालित विभिन्न ट्रेड्स के विषय में विस्तार से जानकारी दी। 

कार्यशाला में हिस्सा लेतीं महाविद्यालय की प्राचार्या व अन्य।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महाविद्यालय की प्राचार्य डाॅ0 अपर्णा मिश्रा ने कहा कि सरकार छात्राओं को भी स्टार्टअप शुरू करने में आर्थिक मदद और तकनीकि सहयोग प्रदान कर रही है। इस वर्कशाॅप के माध्यम से छात्राओं को स्किल डेवलपमेन्ट की जानकारियाँ दी जायेंगी जो उनको स्वरोजगार में सहायता प्रदान करेंगी। कार्यक्रम का संचालन करते हुए इंडस्ट्री एकेडिमिआ लिंकेज सेल के प्रभारी डाॅ0 प्रशान्त द्विवेदी ने कहा कि महाविद्यालय की छात्राएं इस तरह के आयोजनों का लाभ उठायें क्योंकि कई उद्योगों ने छात्र-छात्राओं के लिये उद्यमिता के दरवाजे खोल दिये हैं। आज समय की माँग है कि परम्परागत शिक्षा के साथ रोजगारपरक शिक्षा भी प्रदान की जाये जिससे कि छात्राएं आत्मनिर्भर हो सकें। प्रकोष्ठ की सह प्रभारी डाॅ0 शकुन्तला ने धन्यवाद ज्ञापन किया। छात्राओं मंे नेतृत्व क्षमता के विकास एवं सामाजिक कार्य में प्रतिभागिता एवं विषम परिस्थितियों का सामना किस प्रकार किया जाय इस हेतु बृहस्पतिवार से रेंजर्स का पाँच दिवसीय विशेष प्रशिक्षण शिविर का शुभारम्भ किया गया। 22 फरवरी तक अनवरत जारी रहेगा। इसके अंतर्गत कुल 87 छात्राओं को प्रवेश एवं निपुण का प्रशिक्षण प्रशिक्षकों द्वारा दिया जा रहा है। कार्यक्रम का शुभारम्भ महाविद्यालय की प्राचार्य डाॅ0 अपर्णा मिश्रा ने रेंजर्स का झण्डारोहण करके किया गया। आगन्तुक प्रशिक्षकों अतुल सिंह, अर्चना सिंह एवं श्याम बाबू का स्वागत किया गया। दूसरे दिन के प्रशिक्षण में प्रशिक्षकों ने प्रकृति का संरक्षण, अस्थाई पुल का निर्माण आदि का प्रशिक्षण दिया। इस अवसर पर रेंजर्स समिति के अन्य सदस्य डाॅ0 उत्तम कुमार शुक्ल, बसन्त कुमार मौर्य सहित समस्त महाविद्यालय परिवार उपस्थित रहा।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages