गैंग सदस्यों की फोटो सहित बनाएं डोजियर: आईजी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, February 18, 2021

गैंग सदस्यों की फोटो सहित बनाएं डोजियर: आईजी

पुलिस कार्यालय शाखाओं का किया वार्षिक निरीक्षण

अच्छा कार्य करने पर पुलिस को सराहा

अपराध समीक्षा  कर दिए आवश्यक निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। पुलिस महानिरीक्षक चित्रकूटधाम परिक्षेत्र बांदा के सत्यनारायाणा ने पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल की उपस्थिति में गार्द सलामी लेने के उपरान्त पुलिस कार्यालय शाखाओं का वार्षिक निरीक्षण किया।

पुलिस महानिरीक्षक ने शिकायत प्रकोष्ठ का वार्षिक निरीक्षण कर शिकायती रजिस्टर का अवलोकन किया। जिसमें लम्बित प्रार्थना पत्रों के निस्तारण के लिए रिमाइण्डर देने के लिये निर्देशित किया। रजिस्टर में पाया कि प्राप्त प्रार्थना पत्रों के निस्तारण के सम्बन्ध में कर्मियों द्वारा आवेदकों से फीडबैक लेकर टिप्पणी अंकित की जाती है। जिस पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुये कर्मियों की सराहना की। सोशल मीडिया सेल के निरीक्षण के दौरान टिवटर से प्राप्त शिकायतों के रजिस्टर व पेपर कटिंग रजिस्टर का अवलोकन कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये। साथ ही जनपद से सम्बन्धित पुलिस के किये गये सराहनीय कार्यों की पेपर कटिंग का अवलोकन किया। शस्त्र लाइसेंस, एसआर,

निरीक्षण करते आईजी।

गैंग्स्टर, हिस्ट्रीशीटर व अन्य रजिस्टरों का अवलोकन किया। वर्ष 2020 में हुई हत्या, रेप सहित अन्य महत्पूर्ण घटनाओँ के अभियोगों की वर्तमान स्थिति देखी। उन्होंने कहा कि एसआर फाइल में घटना से सम्बन्धित फोटोग्राफ व पोस्टमार्टम की रिपोर्ट अवश्य संलग्न की जाये। गुण्डा एक्ट, निरस्तीकरण रजिस्टर के अवलोकन के दौरान वर्ष 2020 में कितने अपराधियों पर जिला बदर की कार्यवाही की गयी की स्थिति का जायजा लिया। कितने नये हिस्ट्रीशीट खुले, कितने नष्ट किये गये आदि की जानकारी की। लंबित क्रिमिनल अपील, वार्षिक गोश्वारा देखा। समय से दाखिल करने के निर्देश दिए हैं। प्रधान लिपिक कार्यालय में निरीक्षण के दौरान समस्त रजिस्टरों का अवलोकन किया। निरीक्षक, उप निरीक्षक, मुख्य आरक्षी, आरक्षियों के रैण्डम 5-5 रोल चेक किये। जिसमें देखा गया कि सभी प्रविष्टियां पूर्ण हैं या नहीं। 2020 की सारी प्रविष्टियां पूर्ण पाये जाने पर प्रशंसा व्यक्त की। पुलिस कर्मियों के इंक्रीमेन्ट की जानकारी की। पेंशन रजिस्टर में आलोच्य अवधि में दण्ड का उल्लेख अवश्य किया जाये व रिवार्ड भी चेक करें। उन्होंने कहा कि पुलिस महानिदेशक के जारी परिपत्रों की गार्द फाइल पृथक बनायी जाये। मुख्यालय लखनऊ व एडीजी से जारी परिपत्रों की गार्द फाइल पृथक-पृथक बने। बीड आउट रजिस्टर चेक किया गया व फाइल नष्टीकरण की जानकारी की। प्रधान लिपिक ने बताया गया कि 2014 तक समस्त पत्रावली बीड आउट की जा चुकी हैं। थानों व आफिस में दिये जा रहे स्टेशनरी के रजिस्टरों के रिकार्ड का निरीक्षण किया। इस मौके पर सीसीटीएनएस शाखा, जनसूचना सेल, विशेष जांच प्रकोष्ठ, आईजीआरएस, एलआईयू, डीसीआरबी का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए हैं। उन्होंने चोरी, नकबजनी, हत्या व अन्य अपराधों की समीक्षा की। अपराध चार्ट बेहतर बनाये जाने पर डीसीआरबी कर्मचारियों को पुरष्कृत करने की घोषणा की। जनपद के डी गैंग की जानकारी की। गैंग मेम्बर्स के डोजियर फोटो सहित बनाने के निर्देश दिए हैं। महिला सहायता प्रकोष्ठ के कार्यों की जानकारी कर आर्थिक सहायता के लिए लम्बित प्रकरणों के शीघ्र निस्तारण के निर्देश दिए हैं। इसके बाद मानीटरिंग सेल, सम्मन सेल, आंकिक शाखा का निरीक्षण किया। आंकिक बाबू से कहा कि यदि कोई बिल लम्बित है तो शीघ्र ही भुगतान किया जाये।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages