कानून की बारीकियां जानकर पीड़ितों को दिलाएं न्याय: आईजी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, February 17, 2021

कानून की बारीकियां जानकर पीड़ितों को दिलाएं न्याय: आईजी

पुलिस लाइन में किया गया मंडलीय कार्यशाला का आयोजन 

बांदा, के एस दुबे । पुलिस लाइन में बुधवार को मंडलीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। चित्रकूटधाम परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक के. सत्यनारायण ने कहा कि पुलिस को सक्रियता से कार्य करे और पुलिस की छवि को जिम्मेदार बनाएं। समाज में महिला और बच्चों के प्रति अपराध में पुलिस कानून की बारीकियों को जानकर उसका प्रयोग करते हुए पीड़ितों को न्याय दिलाने का कार्य करेंगे। 

कार्यशाला का विषय किशोर न्याय अधिनियम 2015, पाक्सो अधिनियम 2012 और बाल विवाह व मानव तस्करी आदि रहा। आईजी, एसपी और एएसपी तथा यूनीसेफ के रिसोर्स पर्सन ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यशाला का शुभारंभ किया। आईजी ने कहा कि बच्चों एवं महिलाओं के संरक्षण पर पुलिस को सक्रियता से कार्य करने और

मंडलीय कार्यशाला में दीप प्रज्जवलन करते एएसपी, साथ में मौजूद आईजी के. सत्यनारायण व अन्य 

पुलिस की छवि को जिम्मेदार बनाने के लिए बताया। कहा कि समाज में महिला और बच्चों के प्रति अपराध में पुलिस कानून की बारीकियों को जानकर उसका प्रयोग कर पीड़ितों को न्याय दिलाने का कार्य करेंगे। एसपी ने सभी बाल कलयाण पुलिस अधिकारियों से यह अपेक्षा की है कि यह कार्यशाला पुलिस कर्मियों के लिए ज्ञानवर्धक कार्यशाला है। इस कार्यशाला के द्वारा बच्चों और महिलाओं से संबंधित अपराध में विवेचना करने में सहायता मिलेगी। एएसपी ने विशेष किशोर पुलिस इकाई के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सभी बाल कल्याण पुलिस अधिकारी बच्चों से बातचीत करते समय वर्दी में नहीं रहेंगे। इसके साथ ही अधिनियम की बारीकियों पर प्रकाश डाला। यूनीसेफ से अनिल कुमार ने किशोर न्याय अधिनियम, पाक्सो अधिनियम की एक-एक धाराओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी। साथ ही बच्चों से संबंधित बैड टच, गुड टच के बारे में बताया। बच्चों से संबंधित या बच्चों के खिलाफ आपराधिक मामले में बच्चों को निर्दोष मानने के सिद्धांत को बताया। सभी बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों से अधिनियम की मंशा के अनुसार बच्चों के हित को ध्यान में रखकर काम करने को कहा। सहायक अभियोजक अधिकारी जितेंद्र सिंह ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के बारे में और उसे रोकने में पुलिस अधिकारियों की भूमिका के बारे में बताया। कार्यशाला समापन के दौरान चित्रकूटधाम मंडलायुक्त दिनेश कुमार सिंह भी मौजूद रहे। इस दौरान सहायक अभियोजन अधिकारी ब्रम्हमूर्ति यादव ने भी संबोधित किया। संचालन सेंट जेवियर्स कालेज की अध्यापिका सोनम सिंह ने किया।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages