ग्राम सचिवालय की मजबूती से होंगें अच्छे कार्य: आयुक्त - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, February 24, 2021

ग्राम सचिवालय की मजबूती से होंगें अच्छे कार्य: आयुक्त

जल जीवन मिशन, पेयजल, वरासत, मुख्यमंत्री की घोषणाओं के कार्यों की समीक्षा कर दिए निर्देश

शासन को भेजे जाएं मंदाकिनी नदी की सफाई को मशीनरी व्यवस्था, वृहद वृक्षारोपण की कार्य योजना 

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। मण्डलायुक्त दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में जल जीवन मिशन, पेयजल, वरासत अभियान आदि के संबंध में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। आयुक्त ने विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों से कहा कि चित्रकूट भगवान श्री राम की तपोस्थली है। जहां कार्य करने का अवसर मिला है। विभाग की तरफ से यह सोचे कि धार्मिक क्षेत्र को कैसे साफ, स्वच्छ व सुंदर बनाएं। उन कार्यों का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजें। उन्होंने जल जीवन मिशन के अंतर्गत अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई से जानकारी की। जिसमें अधिशासी अभियंता ने बताया कि जनपद में चार पेयजल योजनाओं के प्रस्ताव स्वीकृत किए गए हैं। जिसमें चांदी बांगर, सिलौटा मुस्तकिल, भरथौल तथा रैपुरा के अलावा जो मऊ तथा बरगढ़ पेयजल योजनाओं में तीन गांव छूट गए थे वहां पर ट्यूब वेल के माध्यम से हर घर नल योजना से शुद्ध पेयजल पहुंचाने का कार्य किया जाएगा। कहा कि शासन ने जो समय सीमा तय की है उसी के अनुसार

समीक्षा बैठक में निर्देश देते मण्डलायुक्त।

गुणवत्तापूर्ण कार्य कराए। जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय से कहा कि प्रतिदिन समीक्षा कर प्रगति रिपोर्ट से अवगत कराया जाए। जिन पेयजल योजनाओं के निर्माण कार्यों की डिजाइन अभी तक स्वीकृत होकर शासन से प्राप्त नहीं हुई है उसके लिए उनकी तरफ से पत्र भेजें। आयुक्त ने आंशिक तथा बंद पड़ी पेयजल योजनाओं का विवरण मांगा है। उन्होंने कहा कि गर्मी में पेयजल की समस्या को देखते हुए अधिशासी अभियंता जल संस्थान व जल निगम कंट्रोल रूम बनाकर दूरभाष नंबर का प्रचार प्रसार कराएं। कहीं पर पेयजल को लेकर समस्या नहीं होना चाहिए।

आयुक्त ने उप जिलाधिकारियों से कहा कि वरासत अभियान 28 फरवरी को समाप्त हो रहा है। क्षेत्र में भ्रमण कर सत्यापन करें और खतौनी कृषकों को उपलब्ध कराएं। नए आवेदन पत्रों को प्रत्येक दशा में खतौनी में वरासत दर्ज कर संबंधित को खतौनी दी जाए। अगर कहीं से समस्या प्राप्त हुई तो उसके लिए संबंधित लेखपाल जिम्मेदार होगा। जिन लोगों के खतौनी में नाम दर्ज हुए हैं उसमें अभी तक कितने लोगों को किसान सम्मान निधि के लिए आवेदन कराया गया है। अगर नहीं किया गया है तो कृषि विभाग में पंजीकरण कराकर शासन की योजनाओं का लाभ दें। हर ग्राम पंचायत में ग्राम सचिवालय स्थापित हो। यह कार्य एक सप्ताह के अंदर सुनिश्चित करा ले। कहा कि ग्राम सचिवालय अगर मजबूत होगा तो सभी कार्य अच्छे होंगे। इसके लिए मंडल में एक कंट्रोल रूम की भी स्थापना कर रहे हैं। जिसमें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा भी की जाएगी। जिला पंचायत राज अधिकारी से कहा कि श्रम विभाग की योजनाओं तथा अन्य विभागों की जन कल्याणकारी योजनाओं की वॉल पेंटिंग सभी ग्राम सचिवालय में कराया जाए। अधीक्षण अभियंता विद्युत को निर्देश दिए की सीएससी के माध्यम से विद्युत बिल प्रत्येक माह अपडेट कराकर जमा कराया जाए। यह भी कहा कि वरासत का अभियान समाप्त नहीं हो रहा है। प्रत्येक माह इस कार्य को कराया जाए। लेखपाल व कानूनगो को सक्रिय करें। सभी ग्राम कर्मचारी ग्राम सचिवालय में अपने तिथि में बैठकर गांव के लोगों की समस्याओं का निस्तारण करें। इसी प्रकार गांव में खेल के मैदान का सुंदरीकरण कराया जाए। मुख्य विकास अधिकारी के नेतृत्व में उप जिलाधिकारी खेल के मैदान का निर्माण व युवक मंगल दल का गठन कर जिला युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल अधिकारी से खेल सामग्री की व्यवस्था कराएं। इसी प्रकार विद्यालयों में भी व्यवस्था कराई जाए। 

आयुक्त ने 50 लाख से ऊपर के निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए सभी कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देश दिए कि शासन की मंशा के अनुरूप समय सीमा के अंदर गुणवत्तापूर्ण कार्य कराए जाए। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़कों को गड्ढा मुक्त कराएं। प्रत्येक सड़कों के चैड़ीकरण का प्रस्ताव भी बनाकर शासन को भेजा जाए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के घोषणाओं के कार्य भी प्राथमिकता के साथ होना चाहिए। कार्यों की तकनीकी जांच भी कराई जाए। मां मंदाकिनी गंगा की साफ सफाई का काम लगातार जारी रहे। मशीनरी व्यवस्था के लिए शासन को पत्र प्रेषित करें। अविरल जल अभियान के अंतर्गत मंदाकिनी पुनर्जीवित के कार्यो की भी समीक्षा की। प्रभागीय वनाधिकारी से कहा कि मंदाकिनी नदी के किनारे बड़े वृक्षारोपण का भी प्रस्ताव बनाकर शासन को दें। अंत में जिलाधिकारी ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जो दिशा निर्देश दिए गए हैं उनका शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा। बैठक में संयुक्त विकास आयुक्त बांदा रमेश चंद पांडेय, मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, अपर उप जिलाधिकारी राजबहादुर, उप जिलाधिकारी कर्वी राम प्रकाश, मानिकपुर संगम लाल, मऊ नवदीप शुक्ला, राजापुर राहुल कश्यप सहित संबंधित अधिकारी, जल जीवन मिशन के कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages