2022 तक किसानों की आय होगी दोगुनी: तोमर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, February 21, 2021

2022 तक किसानों की आय होगी दोगुनी: तोमर

कृषि कानूनों से किसानों का नुकसान नहीं बल्कि होगा फायदा 

कृषि विश्वविद्यालय में आयोजित किसान मेले को केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर ने किया संबोधित 

बांदा, के एस दुबे । कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय में आयोजित क्षेत्रीय किसान मेले के दूसरे दिन रविवार को केंद्र सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आनलाइन संबोधित किया। प्रथम सत्र के मुख्य अतिथि के तौर पर बोलते हुए श्री तोमर ने कहा कि भारत सरकार द्वारा लाए गए तीनो नए कृषि कानून किसानों के हित में हैं। मोदी और योगी सरकार किसानों को और सुदृढ़ करना चाहती है। इस बात की चर्चा करना जरूरी है कि किसानों की आय और उनके रहन-सहन को कैसे बढ़ाया जाए। झांसी की महिला कृषि ने कम क्षेत्र में ही बहुत अधिक मुनाफा कमाया, इससे प्रेरणा लेने की जरूरत है। मोदी सरकार का यह संकल्प है कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी हो। 

क्षेत्रीय किसान मेले को संबोधित करते लोनिवि राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय

केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि कृषि एवं किसानो की दशा सुधारने के लिए हेतु किये जाने वाले कार्यो में किसानो की ऋण माफी, उर्वरको एवं बीजो कासमय पर वितरण, वैज्ञानिक सलाह एवं कृषि उत्पाद के विपरण के लिए उपलब्ध बाजार, उत्पाद के उचित मूल्य प्राप्त करने के लिये किये जा रहे प्रयास प्रमुख है। उन्होने कहा कि आज किसानो को सिर्फ बाजार ही नही बल्की तकनीकि के इस युग मे ई-बाजार भी उपलब्ध है। विशिष्ट अतिथि के रूप मे आनलाइन जुड़े सूबे के कृषि, कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि ऐसे आयोजन से किसान ही नही बल्की कृषि से जुडे़ हुए सभी लोग लाभांन्वित होते हैं। वर्तमान सरकार कृषक कल्याण के लिये बनी है। कृषको की सभी समस्याओ को प्राथमिकता के आधार पर हल किया जाता है। वैज्ञानिक शोच एवं विकसीत नई तकनिकीयो से किसान अपनी आय एवं जीवन स्तर को बढ़ा रहा है। कार्यक्रम मे मंचासीन विशिष्ट अतिथि के रूप मे बैठे अपर मुख्य सचिव डा. देवेश चैधरी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होने अपने संदेश मे यह भी कहा कि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के निर्देशन मे कृषि मंत्रालय कृषि हितकारी कार्यो को संम्पादित कर रहा है। बुन्देलखण्ड मे कृषि विकास को गति प्रदान करने के लिये हर स्तर से प्रयास कर रहा है। बुन्देलखण्ड के कृषि विकास में कृषि विश्वविद्यालय तत्परता से लगा हुआ। यह विशाल किसान मेला का आयोजन एक महत्वपूर्ण कडी़ साबित हो सकती है। कार्यक्रम मे विशिष्ट अतिथि के रूप मे आनलाइन जुडे़ प्रबंध परिषद के सदस्य अभय महाजन ने यह विश्वविद्यालय को बुन्देलखण्ड की कृषि के लिये बरदान साबित होगा। कुलपति डा0 यूएस गौतम के नेतृत्व मे यह विश्वविद्यालय नित नई उचाईयो को छू रहा है। 

हमें समूह में खेती को अपनाना होगा: आनंद स्वरूप 

राजयमंत्री आनंद स्वरूप ने स्वयं सहायता समूह को गाड़ी की चाबी सौंपी 

बांदा। किसान मेले के दूसरे दिन के दूसरे सत्र मे कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्यमंत्री ग्राम विकास एवं संसदीय कार्य आनंद स्वरूप शुक्ला रहे। विशिष्ट अतिथि के रूप मे राज्य मंत्री लोक निर्माण विभाग चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, बांदा सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी, विधायक हमीरपुर युवराज सिंह रहे। मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन मे कहा कि कृषि योग्य भूमि धीरे धीरे कम हो रही है। अब हमे समूह मे खेती को अपनाना होगा। प्रधानमंत्री जी का सपना कृषको की आय दोगुनी करना है। विश्वविद्यालय के कुलपति डा. यूएस गौतम ने कृषि के नवाचारो को बुन्देली किसानों पहुचाने का प्रयास कर रहे हैं। यह बहुत सराहनीय कार्य है। टमाटर एवं अन्य सब्जीयो इत्यादी को

स्वयं सहायता समूह सदस्य को गाड़ी की चाबी सौंपते राज्यमंत्री उपाध्याय व सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी

भण्डारित एवं मूल्य संर्वधित कर प्रतिकूल समय मे इसकी पूर्ति का अधिक धन अर्जित किया जा सकता है। उन्होने कहा कि राष्ट्र के पूर्ण निर्माण के लिये छात्रो को आगे आना होगा। तकनीकि युग मे तकनीकि ताकत ही सबसे बड़ी ताकत होगी। कृषि के क्षेत्र मे रोजगार सृजन आवश्यक एवं आसान भी है। कुलपति डा. गौतम ने इस मेले के माध्यम से कर्नाटक के चंदन जो कि स्टाल मे लगाये गये हैं, यहां के लोगो को देखने के लिये सुलभ कराया। मेला परिसर मे लगभग 150 स्टालो के माध्यम से तकनीकि का अच्छा प्रसार करने का प्रयास किया जा रहा है। 

लोनिवि राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय ने संबोधित करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय का निरंतर प्रयास है कि जलवायु के अनुुकूल तकनीकियो को सुविधापूर्वक किसानो तक पहुचाएं। उन्होंने किसानों को दलहन फसल उगाने को प्रोत्साहित किया। बुन्देलखण्ड मे पानी कि उपलब्धता पर सरकार, वैज्ञानिको एवं अधिकारीयो ने अच्छा कार्य किया है। जिसके वजह से कृषि की सघनता बढी़ हैै। किसानो को अपने प्रक्षेत्र पर और कड़ी मेहनत पर बुन्देलखण्ड को समृद्ध बनायें, इसके लिये आवाहन किया। सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी ने इस आयोजन के लिये कुलपति का आभार जताया। उन्होने कहा कि इस तरह के आयोजन से यहां के किसान एवं जनता लाभान्वित होगी। डीएम ने अपने संबोधन में कृषकों एवं उपस्थित लोगों को अधिक से अधिक लाभ उठाने के लिये कहा। साथ ही उन्होने विश्वविद्यालय को हर संभव मदद करने के लिये अपने संकल्प को दोहराया। मेलेे के दौरान मुख्य अतिथि राज्यमंत्री ग्राम विकास एवं संसदीय कार्य आनंद स्वरूप शुक्ला ने स्वयं सहायता समूह को गाड़ियो की चाभी भंेट की। इस कार्यक्रम का नेतृत्व एनआरएलएम के उपायुक्त के. करूणाकर पाण्डेय कर रहे थे। इस अवसर पर उन्हे विश्वविद्यालय के तरफ से मंत्री ने प्रतीक चिन्ह एवं शाल भेंट कर सम्मानित भी किया। धन्यवाद ज्ञापन और किसान मेला के आयोजन सचिव डा. नरेन्द्र सिंह ने किया जबकि कार्यक्रम का संचालन सहायक प्रध्यापक डा. बीके गुप्ता ने किया। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages