सामुदायिक शौचालय में गडबडी की नहीं मिले शिकायत: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, January 15, 2021

सामुदायिक शौचालय में गडबडी की नहीं मिले शिकायत: डीएम

लाभार्थियों के गलत खाता देने पर सचिवों के खिलाफ कार्यवाही के दिए निर्देश

धनराशि के अभाव में पीआईजीएफ से कराएं निर्माण

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेंट कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी संजय कुमार पाण्डेय को निर्देश दिए कि जो सामुदायिक शौचालय के निर्माण कार्य कराए जा रहे हैं वह गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए तथा कार्यों में प्रगति कराई जाए। तकनीकी टीम से गुणवत्ता की जांच अवश्य कराएं। व्यक्तिगत शौचालय जो बने हैं उनका सत्यापन कराकर रिपोर्ट दे। खाता संख्या संशोधित होना है उसे भी तत्काल कराएं। जिन गांव के लाभार्थियों के खाता संख्या सचिवों द्वारा गलत दिए गए हैं उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई कराते हुए संशोधित खाता की क्रास चेकिंग कराते हुए भुगतान कराया जाए और शौचालय का सदुपयोग कराया जाए। इसके लिए गांव में प्रचार-प्रसार भी कराएं। उन्होंने कहा कि जिन ग्राम

बैठक में निर्देश देते डीएम।

पंचायतों में केंद्रीय वित्त, राज्य वित्त की पर्याप्त धनराशि की अनुपलब्धता है तो दृष्टिगत रखते हुए पीआईजीएफ मद से प्रति सामुदायिक शौचालय निर्माण को जो शासन से दिशा निर्देश दिए गए हैं उसीके अनुसार उल्लेख करते हुए समिति के समक्ष प्रस्ताव रखा जाए। उन्होंने कहा कि थर्ड पार्टी सत्यापन के लिए प्रशिक्षित व्यक्तियों को जो मानदेय प्रतिदिन के हिसाब से दिया जाना है उसका प्रस्ताव बनाकर पत्रावली प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि मुख्यालय स्तर पर जो जेम पोर्टल के माध्यम से सेवा प्रदाता एजेंसी के चयन का निर्णय लिया गया है तो समस्त प्रस्ताव पत्रावली पर रखा जाए। इस कार्य में विलंब क्यों किया गया संबंधित अधिकारी, कर्मचारी की जिम्मेदारी तय करते हुए शासनादेश के अनुसार प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि सामुदायिक शौचालय का जो निर्माण केंद्रीय, राज्य वित्त एवं मनरेगा योजना के अंतर्गत कराए गए हैं जिनका जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों एवं तकनीकी अधिकारियों से सत्यापन कराए गए हैं उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें। सामुदायिक शौचालयों का निर्माण जो शासन से डिजाइन दी गई है उसीके अनुसार गुणवत्ता पूर्ण करें। किसी भी दशा में सामुदायिक शौचालय निर्माण तथा पंचायत भवन निर्माण में मानकविहीन कार्य कराए जाने की शिकायत नहीं मिलना चाहिए। अन्यथा कार्यवाही की जाएगी।  बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओमकार राणा, जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार, अधिशासी अभियंता जल निगम सुदीप सिंह बिसेन सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages