टीवी हारेगा, देश जीतेगा अभियान का हो पालन: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, January 2, 2021

टीवी हारेगा, देश जीतेगा अभियान का हो पालन: डीएम

जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक संपन्न

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत सक्रिय टीबी रोगी खोज अभियान के संबंध में जिला स्तरीय टास्क फोर्स समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार ने बताया कि 26 से 31 दिसंबर 2020 तक जनपद के वृद्ध आश्रम, दृष्टि संस्थान, अंध विद्यालय, बाल संरक्षण गृह, जिला कारागार एवं केंद्रीय विद्यालय में कुल 526 की स्क्रीनिंग की गई। जिसमें 13 व्यक्ति सस्पेक्ट पाए गए। जिनका बलगम परीक्षण हुआ। जिसमें एक क्षय रोगी पॉजिटिव मिला है। जिसे इलाज दिया गया है। दो से 12 जनवरी तक शहरी, ग्रामीण मलिन बस्ती, हाई रिस्क जनसंख्या में एसीएफ कार्यक्रम संपादित करेंगें। 13 से 25 जनवरी तक निजी चिकित्सकों एवं दवा विक्रेताओं से संपर्क स्थापित कर क्षय रोगियों की खोज की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस 10 दिवसीय अभियान के अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घर जाकर जांच करेंगी। जिसमें दो सप्ताह से लगातार खांसी आना, भूख न लगना, लगातार वजन कम होना, रात में बुखार व पसीना आना, खांसी के साथ बलगम आना, बलगम के साथ खून आना,

बैठक में निर्देश देते डीएम।

सीने में दर्द यह मुख्य लक्षण हैं। इस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि जो स्वास्थ्य टीमें लगाई है उन्हें पहचान पत्र भी दिया जाए। कहा कि इसमें आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को विशेष तौर पर सक्रिय किया जाए। उन्होंने कहा कि जो स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को प्रशिक्षण दें। संबंधित लोग शत प्रतिशत अनुपालन अवश्य करें। कहा कि बैठक की पत्रावली उनके समक्ष विलंब से प्रस्तुत क्यों की गई। इसमें संबंधित प्रभारी अधिकारी का जवाब तलब भी किया जाए। टीवी रोगियों की जांच की मशीन जिला अस्पताल में है उसका भी उपयोग करके मरीजों की जांच कर स्वास्थ्य लाभ दिलाएं। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ एनके कुरैचिया को निर्देश दिए कि खनिज के क्षेत्रों को चिन्हित कर अभियान चलाएं। माइक्रो प्लान से टीवी से ग्रसित व्यक्तियों को स्वास्थ्य लाभ पहुंचाएं। मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी ने कहा कि जो स्वास्थ्य टीम लगें उसके द्वारा जो मार्किंग की जाए उसकी समीक्षा के लिए पर्यवेक्षण अधिकारी को भी लगाया जाए। ताकि वह रिपोर्ट प्रस्तुत कर सके। जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड की तरह इस अभियान के कार्यों की ई-फाइल बनाकर प्रस्तुत की जाए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि पिछले राउंड में 38 मरीजों को चिन्हित किया गया है। इस अभियान में शिक्षा व बाल विकास विभाग भी सहयोग करें। इस पर जिलाधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी व जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिए की खंड शिक्षा अधिकारियों, बाल विकास परियोजना अधिकारियों के माध्यम से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों व शिक्षकों को अवगत करा दें कि इस अभियान में टीवी से ग्रसित बच्चों की जानकारी कर स्वास्थ्य लाभ दिलाया जाए। उन्होंने कहा कि आरबीएसके की टीम व प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश जारी करें कि जो कुपोषित बच्चे पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराए जा रहे हैं उनके माता-पिता को अच्छी तरह से गाइड कर पोषण पुनर्वास केंद्र में कुपोषित बच्चों को भर्ती कराकर स्वास्थ्य लाभ दिलाया जाए। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को यह भी निर्देश दिए कि जो 10 जनवरी से मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला कार्यक्रम का आयोजन किया जाना है। कार्यक्रम का शुभारंभ जन प्रतिनिधियों के माध्यम से कराया जाए। सभी फ्रंटलाइन कार्यकर्ता का कोरोना बैक्सीन के लिए पंजीकरण  अभियान चलाकर करा ले। उन्होंने कहा कि जो शासन से टीवी हारेगा, देश जीतेगा के लिए कार्यों के निर्देश दिए गए हैं उसका अनुपालन अक्षरशः कराया जाए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, मुख चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ इम्तियाज, डॉ आरके चैरिहा, डॉ राम लखन गर्ग, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास मनोज कुमार, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ एनके कुरैचिया, जिला कार्यक्रम प्रबंधक आरके करवरिया, जिला कार्यक्रम समन्वयक ज्ञानचंद शुक्ला सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages