विकास कार्यों के सत्यापन को डीएम ने लगाई चौपाल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, January 11, 2021

विकास कार्यों के सत्यापन को डीएम ने लगाई चौपाल

समाजसेवी संस्था के सहयोग से निराश्रितों के मध्य बांटा कंबल

डिजाइन के अनुसार शौचालय निर्माण न होने पर मांगी रिपोर्ट

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने चित्रकूटधाम कर्वी की ग्राम पंचायत बंदरी के मजरा ढोलबजा प्राथमिक विद्यालय के प्रांगण में चैपाल लगाकर विकास कार्यों का सत्यापन, ग्रामीणों की समस्याएं सुनकर निराश्रित एवं असहाय लोगों के मध्य कंबल का वितरण किया है।

जिलाधिकारी ने लेखपालों से खतौनी के सत्यापन के बारे में जानकारी की। जिसमें लेखपालों ने बताया कि ग्राम पंचायत में 14 अविवादित वरासत के मामले पाए गए हैं। जिनके खतौनी में नाम दर्ज कर खतौनी दी जा रही है। जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों से कहा कि जिन लोगों के मुखिया व परिवार के सदस्य की मृत्यु हो गई है वह लेखपाल से संपर्क कर खतौनी में नाम दर्ज कराकर प्राप्त कर लें। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को वृद्धा, विधवा, दिव्यांग पेंशन न मिल रही हो तो वह यहां पर जो कैंप लगे हैं उसमें अपना नाम दर्ज करा दें। उन्होंने संबंधित अधिकारियों

चौपाल में समस्याएं सुनते डीएम।

को निर्देश दिए कि गांव के पात्र लाभार्थियों से आवश्यक दस्तावेज लेकर पेंशन योजनाओं से लाभान्वित कराएं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि नहीं मिल रही है तो कृषि विभाग के अधिकारियों से संपर्क कर निस्तारण करा ले। जिलाधिकारी ने स्वच्छ शौचालय, प्रधानमंत्री आवास, मनरेगा के कार्यों, हैंडपंप, विद्युत, पेयजल, पठन-पाठन, विद्यालयों के ऑपरेशन कायाकल्प, खाद्यान्न वितरण, राज्य वित्त 14वां वित्त, आयुष्मान गोल्डन कार्ड आदि विभिन्न योजनाओं की बिंदुवार समीक्षा की। जिलाधिकारी ने कहा कि आज जिला प्रशासन के साथ समाजसेवी संस्था के सदस्यों ने कंबल वितरण किया है। उन्होंने इस कार्य की सराहना की है।

तत्पश्चात जिलाधिकारी ने सामुदायिक शौचालय, मनरेगा योजना के अंतर्गत डब्ल्यूबीएन सड़क का भी निरीक्षण किया। सामुदायिक शौचालय के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि डिजाइन के अनुसार शौचालय का निर्माण क्यों नहीं कराया गया। डिजाइन व स्टीमेट चेक कर अवगत कराएं। मनरेगा योजना के अंतर्गत निर्मित सडक की तकनीकी जांच कराकर जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए। चैपाल के दौरान जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, परियोजना निदेशक अनय कुमार मिश्रा, जिला पंचायत राज अधिकारी संजय कुमार पांडेय, डीसीएम राम उदरेज यादव, मनरेगा दयाराम, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ केपी यादव, जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार, जिला पूर्ति अधिकारी धु्रवराज यादव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओमकार राणा, खंड विकास अधिकारी  राजेश कुमार नायक सहित संबंधित अधिकारी, सचिव विनोद कुमार, निवर्तमान ग्राम प्रधान माताबदल सहित ग्रामवासी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages