समस्याओं को लेकर शीतगृह एसोसिएशन ने डीएम को सौंपा ज्ञापन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, January 7, 2021

समस्याओं को लेकर शीतगृह एसोसिएशन ने डीएम को सौंपा ज्ञापन

फतेहपुर, शमशाद खान । जनपद में संचालित हो रहे शीतगृह में आ रही समस्याओं को लेकर गुरूवार को शीतगृह एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को चार सूत्रीय ज्ञापन सौंपकर सभी समस्याओं का शीघ्र निराकरण कराये जाने की मांग उठायी। 

शीतगृह एसोसिएशन के संरक्षक आदित्य पाण्डेय की अगुवई में शीतगृह मालिक कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां जिलाधिकारी को चार सूत्रीय ज्ञापन सौंपकर बताया कि वर्तमान समय में जनपद में सोलह शीतगृह हैं। जिनमें चैदह शीतगृहों का ही संचालन हो पा रहा है। जनद में शीतगृहों की भंडारण क्षमता के सापेक्ष आलू का भंडारण नहीं हो पाता। वर्तमान में विद्युत दरों में बढ़ोत्तरी एवं लेवर के कार्यों में बढ़ोत्तरी की वजह से शीतगृहों में आलू भण्डारण का व्यापार निरंतर घाटे में चल रहा है। समस्याएं गिनाते हुए बताया कि शीलगृहों में आलू के भण्डारण का कार्य होता है। आलू खरीद बिक्री का कार्य शीतगृहों द्वारा नहीं किया जाता। बांट एवं माप विभाग द्वारा शीतगृहों का चालान किया जा रहा है जिसको रोका जाना अति आवश्यक है। बताया कि समस्त शीतगृह वर्ष 2018 के पहले से बने हैं।

जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपते शीतगृह एसोसिएशन के पदाधिकारी।

अभी तक अग्निशमन विभाग द्वारा अग्निशमन उपकरणों का क्रियाशीतला प्रमाण पत्र जारी किया जाता था उसी से लाइसेंस का नवीनीकरण हो जाता था लेकिन अब अग्निशमन विभाग कह रहा है कि नये सिरे से शीतगृहों के संचालन हेतु अनापत्ति प्रमाण पत्र बनवाया जाये जो कि सर्वथा अनुचित है। ज्ञापन में यह भी बताया गया कि प्रदूषण विभाग द्वारा अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी होने के बावजूद सहमति पत्र मांगे जा रहे हैं। जबकि शीतगृह उद्योगों में प्रदूषण का कार्य नहीं हो रहा है। विभाग द्वारा जनरेटरों हेतु ध्वनि एवं वायु प्रदूषण का सहमति पत्र मांगा जा रहा हे जो कि सर्वथा अनुचित है अब नये जनरेटरों में ध्वनि एवं वायु प्रदूषण नहीं होता है। जिला उद्यान अधिकारी द्वारा भी शीतगृहों पर अनावश्यक दबाव बनाया जा रहा है और कहा जा रहा है कि शीतगृहों के लाइसेंस का नवीनीकरण नहीं किया जायेगा और न ही इस वर्ष आलू का भण्डारण करने दिया जायेगा। ऐसी दशा में शीतगृह मालिक बेहद परेशान हैं। जिलाधिकारी से मांग किया कि सभी समस्याओं का निराकरण कराया जाये। आलू भण्डारण का समय निकट है और अभी तक जनपद के किसी भी शीतगृह का लाइसेंस नवीनीकरण नहीं हो पाया है जिससे भविष्य में किसान को आलू भण्डारण करना संभव नहीं हो पायेगा। इस मौके पर दीपू तिवारी, रिंकू तिवारी, देवराज सिंह, राजेश गुप्ता, मनोज गांधी, फरीद अहमद खां, अनवर, द्वारिका रस्तोगी सहित अन्य शीतगृह मालिक मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages