संघ ने मनाई सावित्री बाई फूले जयंती - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, January 5, 2021

संघ ने मनाई सावित्री बाई फूले जयंती

महिला शिक्षा के लिए किया काम 

बदौसा, के एस दुबे । सावित्री बाई फूले महिला अधिकार संघ के तत्वावधान में सहोदिया देवी इण्टर कालेज कुसमा खटौरा में भारत की प्रथम शिक्षिका राष्ट्र माता सावित्री बाई फूले की 190वीं जयन्ती मनाई गई। अध्यक्षता प्रधानाचार्य गुडिया देवी ने की। संचालन की जिम्मेदारी रामभवन कुशवाहा जिला महासचिव जन अधिकार पार्टी ने निभाई। 

शनिवार शाम सहोदिया देवी इण्टर कालेज कुसमा खटौरा में सावित्री बाई फूले महिला अधिकार संघ के बैनर तले आयोजित भारत की प्रथम शिक्षिका सावित्री बाई फूले की जयन्ती में बतौर मुख्य अतिथि उमा कुशवाहा राष्ट्रीय अध्यक्ष सावित्री बाई फूले महिला अधिकार संघ एवं प्रदेश उपाध्यक्ष जन अधिकार पार्टी मौजूद रहीं। उन्होंने तथागत गौतम बुद्ध, महात्मा ज्योतिबा फुले व माता सावित्री बाई फूले सहित महापुरुषों को श्रद्धासुमन अर्पित किए। सावित्री

जयंती कार्यक्रम को संबोधित करतीं मुख्य अतिथि

बाई फूले के जीवन पर प्रकाश डालते हुये कहा कि खुद हमेशा कष्टों से भरा हुआ जीवन व्यतीत किया ताकि समाज सुख से रहे। बताया कि माता सावित्री ने महाराष्ट्र के पुणे में पहला महिला विद्यालय खोला। इनका साथ शेख फातिमा ने दिया। ज्योतिबा राव फूले को पढाई के लिए शर्त रखी गयी थी कि उनको शादी करना पडे़गा। उनका बाल विवाह हुआ। 9 वर्ष की उम्र में सावित्री बाई फूले का विवाह ज्योतिबा फुले से हुआ। महान समाज सुधारक ज्योतिबा फुले ने अपनी पत्नी को पढ़ाया और शिक्षा की ज्योति जलाई। सामाजिक दबाव पर घर से निकाल दिया गया था। इन्होंनें प्रतिज्ञा ली कि वह कभी मां नहीं बनेंगी। फातिमा शेख ने भी जीवन भर अविवाहित रहने का संकल्प ले कर महिला शिक्षा के लिए काम किया। सत्य सोधक समाज की स्थापना महात्मा ज्योतिबा फुले ने की। समाज में व्याप्त तमाम कुरीतियों के खिलाफ संघर्ष किया। बाल विवाह, छुआछूत, भेदभाव जैसी समाज में व्याप्त कुरीतियों को समाप्त करने व महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचारों का मुखर विरोध किया। सभी महिलाओं व बहनों को उनके दिखाये मार्ग पर चलना चाहिए। इस अवसर पर गांव के राजनारायण, कृष्ण कुमार, देवकुमार, संदीप कुमार सविता, पुष्पेन्द्र, अखिलेश मौर्य राजकिशोर कुशवाहा, आराधना विश्वकर्मा, पूर्व प्रधान कुसमा सहित सैकड़ों महिला पुरुषों नें शिरकत की। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages