मंगलसूत्र छीनने का विरोध करने पर की थी हत्या - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, January 5, 2021

मंगलसूत्र छीनने का विरोध करने पर की थी हत्या

पांच दिन के अंदर पुलिस ने घटना का खुलासा कर हत्यारोपी को दबोचा

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक गुलाब त्रिपाठी ने टीम के साथ पांच दिन पूर्व महिला की हत्या के मामले का खुलासा करते हुए आरोपी को गिरफ्तार किया है। 

गौरतलब हो कि बीती 31 दिसम्बर को मऊ थाना क्षेत्र के ग्राम खपटिहा के हरिशचन्द्र मिश्रा पुत्र राजकुमार की पुत्री अन्तिमा देवी का शव इन्द्र कुमार के सरसों के खेत में पड़ा मिला था। घटना के सम्बन्ध में मृतका के पिता की तहरीर पर थाना में अज्ञात के विरुद्ध मामला पंजीकृत किया गया। पुलिस अधीक्षक ने घटना स्थल का निरीक्षण कर प्रभारी निरीक्षक को शीघ्र अनावरण के सख्त निर्देश दिये थे। विवेचना के दौरान खपटिहा निवासी सुधीर द्विवेदी पुत्र सन्तदास प्रकाश में आया। जिसे गांव के तालाब से गिरफ्तार किया है। कड़ाई से पूंछताछ करने पर जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि 31 दिसम्बर को समय करीब पांच बजे साथियों के साथ गांव पहंुचा तो वहां गहने पहने हुये अन्तिमा देवी शौचक्रिया के लिये जाती दिखायी दी। इस पर गहनों के लालच में उसकी नियत खराब हो गयी। गाय

जानकारी देते एसपी।

हांकने का बहाना लेकर पीछा किया। जैसे ही अन्तिमा देवी इन्द्रकुमार के सरसों के खेत पहुंची तो पीछे से पकड़ कर मंगलसूत्र लेने का प्रयास करते समय अन्तिमा देवी ने उसे दांतों से काट लिया। इस पर गला दबाकर हत्या कर दी। छीना झपटी के दौरान मंगलसूत्र सरसों के खेत में कहीं खो गया था। मृतका के पैरों से पायलें निकाल कर मौके से भाग गया था। पायलों को पतनिया वाली रोड पर सरपतहा मोड के पास नहर के किनारे बबूल के पेड़  के पास झाड़ी में छिपा दिया था। जिसकी निशानदेही पर बताये गये स्थान पर जाकर पायलों को बरामद किया गया है। मृतका के माता-पिता को मौके पर बुलाकर पायलों की पहचान करायी गयी। मंगलसूत्र को घटना के दिन ही पुलिस ने शव के साथ मौके से बरामद किया था। इस प्रकार प्रभारी निरीक्षक गुलाब त्रिपाठी ने टीम के साथ घटना के पांच दिन के अन्दर ही अनावरण कर गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता प्राप्त की है। गिरफ्तार करने वाली टीम मे निरीक्षक अपराध ब्रजेश कुमार यादव, एसएसआई गोपाल चन्द्र कनौजिया, एसआई मेवालाल मौर्या, आरक्षी शिवम मिश्रा, आरक्षी सतीश कुमार, आरक्षी चालक राजकुमार शामिल रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages