खुलासा: बात न करने पर कुल्हाड़ी से किया था वार - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, January 24, 2021

खुलासा: बात न करने पर कुल्हाड़ी से किया था वार

मासूम के सिर पर कुल्हाडी के पीछे के हिस्से से मारा

पुलिस ने मुख्य हत्यारोपी को आलाकत्ल के साथ गिरफ्तार कर भेजा जेल

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। किशोरी व मासूम की हत्या के मामले का पुलिस ने 24 घण्टे के अन्दर खुलासा करते हुए मुख्य हत्यारोपी को आलाकत्ल के साथ गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने बताया कि मानिकपुर थाना प्रभारी निरीक्षक सुभाषचन्द्र चैरसिया ने टीम के साथ ग्राम कोडरिया पुरवा में हुये दोहरे हत्याकाण्ड का 24 घण्टे के अन्दर सफल अनावरण करते हुये घटना को अंजाम देने वाले मुख्य हत्यारोपी राकेश कोल पुत्र डब्बू निवासी बरहा कोलान मजरा निही को आलाकत्ल कुल्हाड़ी के साथ गिरफ्तार किया है। बताया गया कि 21 जनवरी को रामराज कोल पुत्र रामआसरे निवासी ग्राम कोडरिया पुरवा मजरा निही ने थाना में सूचना दी थी कि खेत में पुत्री पार्वती व बड़ी बेटी का पुत्र ब्रजेन्द्र घर से खाना लेकर आये थे। शाम को घर जाते समय रास्ते में बर्तन पड़े मिले। आशंका होने पर आसपास देखा तो झाड़ी में नाती ब्रजेन्द्र

जानकारी देते एसपी।

चोटिल हालत में कराह रहा था। मदद की गुहार लगाई तो अन्य ग्रामीण आ गए। नाती की अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मृत्यु हो गई। लड़की पार्वती की खोजबीन किया तो वह भी थोड़ी दूर पर रास्ते के बगल झाड़ी में मृत हालत में पड़ी मिली। जिसके गर्दन में कुल्हाड़ी व सिर में चोट थी। गांव का चिल्हू पुत्र बब्बू कोल जो भौठीपुरवा में रहता है वहीं पास में ही अपने खेत पर कुल्हाड़ी लिये खड़ा था। जब कई लोग मौके पर पहुंचनें लगे तो चिल्हू वहां से हट गया। जिससे पुरानी रंजिश है। इस पर हत्या का शक हुआ। जिसके खिलाफ मामला पंजीकृत किया गया था। घटना के नामजद चिल्हू को तत्काल हिरासत में लेकर पूछताछ की। विवेचना से चिल्हू की नामजदगी गलत पायी गयी और राकेश कोल पुत्र डब्बू निवासी बरहा कोलान मजरा निही का नाम प्रकाश में आया। इस पर राकेश कोल को गिरफ्तार कर कड़ी पूछताछ की गयी तो उसने बताया कि पार्वती से प्यार करता था। घटना के दिन पार्वती अपने खेत की ओर से जंगल के रास्ते घर की तरफ आ रही थी तो वह बरदहा जंगल में रास्ते में उसे रोककर बात करना चाहा। बात नहीं करना चाहती थी। बात करने के लिये दबाव बनाया तो उसने थप्पड़ मार दिया। जिससे अपमानित महसूस करते हुये गुस्से में अपनी कुल्हाड़ी से उस पर वार कर दिया। कुल्हाड़ी उसकी गर्दन पर लने से उसकी मृत्यु हो गयी। साथ में चार वर्ष का बालक यह देखकर रोते हुये घर की तरफ भागने लगा तो उसने सोचा यह घर जाकर बता न दे तो उसे भी कुल्हाड़ी के पिछले हिस्से से मारा। जिससे वह भी वहीं गिर गया। वह मौके से भाग गया और कुल्हाड़ी घर में छिपा दी। हत्यारोपी की निशानदेही पर पुलिस ने घर से घटना में प्रयुक्त कुल्हाड़ी बरामद की है। गिरफ्तार करने वाली टीम में एसएसआई दिनेश कुमार सिंह, मुख्य आरक्षी महेन्द्र कुमार सिंह, आरक्षी यशराज सिंह, पंकज कुमार रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages