बर्ड फ्लू के लक्षण पाए जाने पर पक्षियों की कराएं किलिंग: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, January 12, 2021

बर्ड फ्लू के लक्षण पाए जाने पर पक्षियों की कराएं किलिंग: डीएम

जनपद स्तरीय टास्क फोर्स की जिलाधिकारी ने ली बैठक 

बांदा, के एस दुबे । देश में जिस तरह से इन दिनों बर्ड फ्लू का शोर सुनाई पड़ रहा है, उसको ध्यान में रखते हुए जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह ने मंगलवार को जनपदीय स्तरीय टास्क फोर्स एवियन एन्फ्लूएन्जा (बर्डफ्लू) की बैठक ली। बैठक में स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि जिन पक्षियों में बर्ड फ्लू के लक्षण मिलें, उनकी किलिंग करा दी जाए। 

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी से जनपद में पोल्ट्रीफार्म की जानकारी ली। साथ ही सतत निगरानी के निर्देश दिए। यदि कोई पक्षी में बर्ड फ्लू के लक्षण मिलें तो उन पक्षियों की शीघ्र किलिंग करा दिया जाये। उन्होंने कहा कि राजकीय पशु चिकित्सालय द्वारा नियत्रंण अधिकारियों को ड्यूटी

बैठक को संबोधित करते जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह

लगायी गई है। उसका पूर्णतः पालन करें। डा0 अनिल कुमार सचान (7905976968), डा0 राज नारायण नामदेव (9936762869) तथा सहायक राजेन्द्र प्रसाद त्रिवेदी (9452175443) तथा जनपदीय स्तरीय आरआरटी समिति जो जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित हैं, वह समिति बर्डफ्लू की सतत निगरानी रखेगी। जनपद में पांच तहसीलवार रैपिड रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। आकस्मिक परिस्थितियों में आवश्यकतानुसार गठित टीमों को जनपद की किसी भी तहसील में कहीं भी नियुक्त किया गया है। जिलाधिकारी ने यह भी जानकारी प्राप्त की कि किस क्षेत्र में प्रवासी पक्षियों का आगमन ज्यादा होता है। इस पर सीएमओ ने बताया कि नरैनी क्षेत्र के पंचमपुर डेम में प्रवासी पक्षी ज्यादा प्रवास करते हैं, जो सितम्बर में आते है और मार्च माह में वापस में चले जाते हैं। जिलाधिकारी ने निगरानी किए जाने के निर्देश दिए। 

वन विभाग को निर्देशित करते हुये कहा कि प्रवासी पक्षियों की वन क्षेत्र तथा जलाशयों में सघन निगरानी रखी जाये तथा अचानक अधिक संख्या में पक्षियों की मृत्यु होने पर उसकी सूचना तत्काल मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को उपलब्ध कराई जाये। अपर पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया कि प्रभावित क्षेत्रों में पक्षियों व उनके उत्पाद के आवागमन विक्रय आदि पर पूर्णतः प्रतिबन्ध लगाएंगे। सीमावर्ती क्षेत्रों में पड़ने वाले थानों एवं चैकियों को अलर्ट में रखा जाए ताकि वहां से आने वाले पोल्ट्री वाहनों को तत्काल रोकें। लोनिवि समस्त मृत्य पक्षियों एक किमी परिधि में उनका गड्ढे में दफन किए जाने के लिए जेसीबी मशीन एवं मजदूरों की व्यवस्था कराएंगे। स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया कि बर्डफ्लू की पुष्टि होने पर संक्रमित क्षेत्रों पर कार्यरत कुक्कुट पालक/कर्मचारी व पक्षियों को नष्ट करने के लिए गठित आरआरटी टीम जिसमें पशु पालन विभाग के अधिकारी/कर्मचारी सम्मिलित होंगे। उनको 10 दिवस तक क्वारंटाइन रख कर उनका प्रतिदिन स्वास्थ्य परीक्षण कराने एवं उनका उपचार करेंगे। सिंचाई विभाग को निर्देश दिये कि अपने-अपने क्षेत्रों में आने वाले जलाशयों बांधों में पक्षियों की आकस्मिक मृत्यु के विषय में निगरानी रखेंगे। सूचना विभाग को निर्देशित किया कि समय-समय पर प्रचार-प्रसार किया जाए। बैठक में अपर पुलिस अधीक्षक महेन्द्र प्रताप चैहान, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एनडी शर्मा, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी राजीव धीर, अपर जिला सूचना अधिकारी शारदा सहित सम्बन्धित विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages