सभी संगठन लामबंद हों, तभी बनेगा बुंदेलखंड राज्य - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, January 15, 2021

सभी संगठन लामबंद हों, तभी बनेगा बुंदेलखंड राज्य

बुंदेलखंड बोर्ड उपाध्यक्ष बोले-एकजुट हो दिल्ली पहुंचाएं आवाज

सर्किट हाउस में पानी, किसानी व जवानी यात्रा पर साझा की चर्चा

बांदा, के एस दुबे । बुंदेलखंड के विकास के लिए राज्य का गठन जरूरी है। बुंदेलखंड राज्य बनाने के लिए सभी संगठनों को एक मंच पर आना होगा और राजधानी दिल्ली तक अपनी आवाज बुलंद करनी होगी। संघर्ष के साथ ही सार्थक परिणाम मिलेंगे। यह बात बुंदेलखंड विकास बोर्ड उपाध्यक्ष राजा बुंदेला ने सिंचाई विभाग के डाक बंगले में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कही। 

श्री बुंदेला ने कहा कि बुंदेलखंड में पानी, किसानी व जवानी की समस्या दूर करने के लिए वह जनता व सरकार के बीच पोस्टमैन का कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि जब झारखंड व उत्तराखंड राज्य बन सकते हैं तो बुंदेलखंड राज्य

मीडिया से रूबरू राजा बुंदेला 

क्यों नहीं हैं। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि सदन में यह मुद्दा ही नहीं कभी रखते। इसलिए यह जोर नहीं पकड़ पा रही है। बुंदेलखंड राज्य के लिए करीब 14 संगठन वर्षों से संघर्ष कर रहे हैं। लेकिन कामयाबी नहीं मिल रही है। जब तक सभी संगठन एक मंच पर नहीं आएंगे, तब तक सफलता नहीं मिल सकती। सभी को एकजुट होकर दिल्ली में यह बात पहुंचानी होगी। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में अन्ना गोवंशों के लिए ललितपुर के देवगढ़ और चित्रकूट में पशु वन्य विहार बनवाए जाएंगे। ताकि यहां अन्ना गोवंश प्राकृति व पहाड़ों के बीच बेहतर दिन गुजार सकें। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में तमाम खेल प्रतिभाएं, लेकिन उन्हें मंच नहीं मिल पा रहा है। उनकी कोशिश होगी कि बुंदेलखंड में राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर का स्टेडियम बने। उन्होंने कहा कि हरियाणा आज इसी की बदौलत पंजाब को मात दे रहा है। इससे बुंदेलखंड में पलायन भी रुकेगा। कृषि कानून पर उन्होंने कहा कि आंदोलन कर रहे लोगों को पाक का समर्थन प्राप्त है। अब खालिस्तान की मांग भी जोर पकड़ रही है। कृषि कानून किसानों के हित में है। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में कोरोना संक्रमण के बाद बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिलाया जाएगा। पंजाब के किसान अब बुंदेलखंड का रूख कर रहे हैं। जमीन खरीद रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसान अपनी जमीन बचाएं। अन्यथा वह तबाह हो जाएंगे। पत्रकार वार्ता में दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर व भाजयुमो नेता पंकज चैधरी, इलाहाबाद विश्वविद्यालय के शोध छात्र रामबाबू तिवारी आदि मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages