‘समय पर कराएं ड्राई फूड का वितरण’ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, January 25, 2021

‘समय पर कराएं ड्राई फूड का वितरण’

पंचायत भवनों को करें क्रियाशील, सैम मैम बच्चों को चिन्हित करने के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में जिला पोषण समिति कन्वर्जेंस प्लान कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास मनोज कुमार को निर्देश दिए कि सूखा राशन का वितरण आंगनबाड़ी केंद्रों पर सही प्रकार से कराया जाए। लाभार्थियों को वितरण के लिए देशी घी की आपूर्ति, दूध की आपूर्ति जो की गई है उसको भी समय से वितरित कराएं। बाल विकास परियोजना अधिकारी वितरण का शत-प्रतिशत प्रमाण पत्र तथा नोडल अधिकारियों से भी क्रास चेकिंग कराकर रिपोर्ट उपलब्ध कराया जाए। डीसी मनरेगा को निर्देश दिए पोषण वाटिका विकसित करने का कार्य की प्रगति कम क्यों हो रही है। मनरेगा कन्वर्जेंस से जो कार्य होना है उसमें आईडी समय से जनरेट कराएं तथा क्षेत्र में जाकर निरीक्षण भी करें उन्होंने यह भी कहा कि ग्राम पंचायतों में जो मनरेगा के बड़े कार्य कराए गए हैं उनकी सत प्रतिशत जांच कराकर जांच रिपोर्ट उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी से यह भी कहा कि जो शासनादेश के अनुरूप सामग्री का क्रय किया जाना है उसमें सभी विभाग अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए समय से कराकर वितरण कराना सुनिश्चित

बैठक में निर्देश देते डीएम।

करें आंगनबाड़ी केंद्रों पर चिन्हित कुपोषित बच्चों को दुधारू गोवंश दिए जाने की प्रगति पर कहा कि मानिकपुर में कार्यक्रम कराया जाए मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी से कहा कि जिन परिवारों को गोवंश दिए गए हैं उनका स्वास्थ्य परीक्षण और अगली बार जब बच्चा दे तो अच्छी किस्म की बीडिंग कराई जाए ताकि गोवंश अच्छी नस्ल का बच्चा दे। सहभागिता योजना को भी बढ़ाया जाए और समय से इन लाभार्थियों को भरण-पोषण की धनराशि का भी भुगतान कराया जाए। कुपोषित बच्चों को दुधारू गाय दिए जाने के बाद बच्चों के वजन में सुधार की प्रगति का अनुमान निकालकर बताया जाए बाल विकास परियोजना अधिकारी सभी गाइड करते रहे सैम मैम बच्चों को गोद भी लिया जाए। पोषण पुनर्वास केंद्र में बच्चों का संदर्भन एवं उपचार के संबंध में कहा कि इस बैठक में आरबीएसके की टीम को भी बुलाया जाए मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि क्षेत्र में आरबीएस के टीम को सक्रिय करके स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए उन्होंने कहा कि किसी भी बाल विकास परियोजना अधिकारी का बेड पोषण पुनर्वास केंद्र में खाली नहीं रहना चाहिए। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ आरके गुप्ता को निर्देश दिए कि पोषण पुनर्वास केंद्र में समय से कुपोषित बच्चों को  स्वास्थ लाभ दिलाया जाए। राज्य पोषण मिशन द्वारा जारी कन्वर्जेंस एक्शन प्लान के क्रियान्वयन के संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि जिन बिंदुओं पर प्रगति नहीं है उसमें प्रगति कराई जाए तथा जिन गांव में आशा बहू न हो वहां पर भर्ती करें और जो आशा बहू ठीक से कार्य न कर रही हो तो उनको तत्काल हटाकर दूसरी नियुक्ति की जाए। उन्होंने कन्वर्जेंस प्लान के सभी संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो शासन से दिशा निर्देश दिए गए हैं उसका अनुपालन सुनिश्चित कराएं। जिला पंचायत राज अधिकारी संजय कुमार पांडेय को निर्देश दिए सभी पंचायत भवनों को क्रियाशील कर वहां पर सचिव, लेखपाल सहित ग्राम स्तरीय कर्मचारियों को बैठने की तिथि व समय निश्चित किया जाए। जन सुविधा केंद्र भी खोले जाएं। ताकि गांव के लोगों को इसका लाभ मिल सके। सामुदायिक शौचालय का निर्माण हो रहा है उन्हें तत्काल पूर्ण कराएं। निर्माण कार्य में शासन द्वारा निर्धारित डिजाइन व गुणवत्तापूर्ण हो और उनके संचालन के लिए स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को दिया जाए। उन्होंने बाल विकास परियोजना अधिकारियों को निर्देश दिए कि सैम मैम बच्चों का एक सप्ताह के अंदर अभियान चलाकर चिन्हित कराया जाए। जिला कार्यक्रम अधिकारी से कहा कि इसके लिए खंड विकास अधिकारी की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया जाए। जिसमें प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी तथा आरबीएसके की टीम को भी रखें। ऐम सैम का संवाद कार्यक्रम भी करे। इसमें बाल विकास परियोजना अधिकारी व आरबीएसके की टीम को जिम्मेदारी दी जाए। जिलाधिकारी ने सभी संबंधित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए की पोषण मिशन के क्रियान्वयन के लिए जो शासन से दिशा निर्देश दिए गए हैं उसके अनुपालन में कार्यक्रम आयोजित कराकर कुपोषित बच्चों को स्वास्थ्य लाभ दिलाया जाए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार, जिला पंचायत राज अधिकारी संजय कुमार पांडेय, जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार, जिला उद्यान अधिकारी डॉ रमेश कुमार पाठक, जिला पूर्ति अधिकारी धुवराज यादव, समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी सहित संबंधित अधिकारी, पिरामल संस्था व यूनिसेफ के लोग मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages