लापरवाह अधिकारियों पर करें कार्यवाही: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, January 7, 2021

लापरवाह अधिकारियों पर करें कार्यवाही: डीएम

नवीन विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा बैठक में कसा पेंच

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में नवीन विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो भी विकास कार्य कराए जाएं वह शासन की मंशा के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण कराएं। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न करें। कराए गए कार्यों की समय से फीडिंग हों। ताकि जनपद की रैंकिंग अच्छी रहे। सिंचाई, विद्युत, कॉपरेटिव, कन्या सुमंगला आदि जिन विभागों के विकास कार्यों की रैंकिंग में कमी आई है संबंधित अधिकारी कार्यों में सुधार लाएं। मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि जिन विभागों के विकास कार्यों में प्रगति नहीं हुई है संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करें। जिला पंचायत राज अधिकारी व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि विद्यालयों के ऑपरेशन कायाकल्प के कार्य की प्रगति कराएं। सभी विद्यालयों में 14 पैरामीटर्स के कार्य पूर्ण होने चाहिए। उन्होंने जिला स्तरीय

समीक्षा बैठक में निर्देश देते डीएम।

अधिकारियों से यह भी कहा कि जो विकास कार्यों को लेकर समस्याएं हो तो साप्ताहिक समीक्षा बैठक में निस्तारण कराएं। ताकि विकास कार्य को कराने में समस्या न हो। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी से कहा कि सामुदायिक शौचालय व पंचायत भवन के निर्माण का जो शासन से लक्ष्य प्राप्त हुआ है उन कार्यों को शासन की मंशा के अनुरूप गुणवत्तायुक्त पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि प्रभारी मंत्री द्वारा जिन बिंदुओं पर प्रगति के निर्देश दिए गए थे उन बिंदुओं पर प्रगति कराई जाए। उन्होंने कर करेत्तर से संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष पूर्ति कराई जाए। जिला खनिज अधिकारी को निर्देश दिए कि अवैध खनन व परिवहन पर विशेष ध्यान दें। बागै नदी के अवैध खनन, पहाड़ों पर खनन पट्टा का समय समाप्त हो रहा है। निर्धारित क्षेत्र से अधिक खनन करने का मौके पर निरीक्षण कर कार्यवाही सुनिश्चित कराएं। उन्होंने अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह से कहा कि भू माफियाओं को चिन्हित कर कार्यवाही कराएं और वादों का निस्तारण दायरे से अधिक कराया जाए। श्रम प्रवर्तन अधिकारी को निर्देश दिए कि जो श्रमिक कार्य करते हैं सभी का शत-प्रतिशत पंजीकरण कराया जाए। जिन क्षेत्रों में श्रमिक अधिक कार्य कर रहे हैं वहां पर एक अलग से माइक्रो प्लान बनाएं। ब्लॉक स्तर पर भी कैंप लगाए जाएं। अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई व प्रभागीय वनाधिकारी से कहा कि जहां पर चेकडैम का निर्माण कराया जाना है उसका प्रस्ताव मनरेगा योजना से बनाकर कार्य कराएं। रेन वाटर हार्वेस्टिंग के कार्य पर भी प्रगति कराई जाए। उन्होंने खंड विकास अधिकारियों व संबंधित जिला स्तरीय अधिकारियों से कहा कि शासकीय भवनों पर शत प्रतिशत रूफटॉप वाटर हार्वेस्टिंग के कार्य अवश्य करा लें। तकनीकी सहायता के लिए लघु सिंचाई विभाग कार्य करेगा। अधिशासी अभियंता सिंचाई को निर्देश दिए कि किसानों के द्वारा टेल तक पानी नहरों के माध्यम से न पहुंचने की समस्याएं प्राप्त हो रही है। इसका स्थलीय निरीक्षण कर अवगत कराएं। जिन नहरों में सिल्ट सफाई न हुई हो वहां पर मनरेगा योजना से हो। बरूआ नाला पर भी सफाई का कार्य मनरेगा से कराया जाए। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़कों के निर्माण कार्य को समय सीमा के अंदर गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए। सेतु निगम से कहा कि जिन पुलों के निर्माण कराए जा रहे हैं उसमें जो शासन से समयसीमा निर्धारित की गई है उसीके अनुसार पूर्ण कराएं। जिला कृषि अधिकारी बसंत कुमार दुबे से कहा कि जो कृषि विभाग द्वारा कृषि यंत्र दिए गए हैं उसकी सूची दें। जिला विकास अधिकारी से कहा कि नोडल अधिकारियों के माध्यम से सत्यापन भी कराया जाएं। तकनीकी सहायकों को क्षेत्र में लगाकर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ दिलाएं। फसल बीमा योजना का भी किसानों को लाभ मिले। गौशाला संचालन में खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रतिदिन पांच गौशाला का निरीक्षण करें। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी से कहा कि बर्ड फ्लू के संबंध में सतर्कता बरतें तथा गौशाला निर्माण के कार्यो में तेजी लाएं। दुधारू गाय जिन्हें दी गई हैं उनके भरण-पोषण का भी समय से भुगतान कराएं। ईयर टैगिंग को भी बढ़ाया जाए। टिटिहरा गौशाला को आदर्श गौशाला बनाया जाए वहां पर सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार के निर्देश गोल्डन कार्ड में प्रगति कम है इसमें प्रगति बढ़ाएं। उन्होंने परियोजना प्रबंधक जल निगम को निर्देश दिए कि मऊ व बरगढ़ पेयजल योजना के अंतर्गत लाभान्वित होने वाले गांव का भ्रमण कर जहां जो कमियां हो उसकी साप्ताहिक रिपोर्ट दें। अर्थ एवं संख्या अधिकारी सरिता सिंह को निर्देश दिए कि जिन कार्यों की तकनीकी जांच कराई गई है उनकी आंख्या समक्ष प्रस्तुत करें। उन्होंने पेंशन योजनाओं पर संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि इसमें मेगा कैंप के माध्यम से पात्र लाभार्थियों के आवेदन पत्र भराकर लाभान्वित कराया जाए। उन्होंने विभिन्न योजनाओं की बिंदुवार समीक्षा की। बैठक में  मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार, अधीक्षण अभियंता विद्युत पीके मित्तल, जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, परियोजना निदेशक अनय कुमार मिश्रा, जिला पंचायत राज अधिकारी संजय कुमार पांडेय सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages