कृषि बिल के विरोध में किसान नहीं विपक्षी एजेंट: अरुण - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, January 24, 2021

कृषि बिल के विरोध में किसान नहीं विपक्षी एजेंट: अरुण

आरपीआई प्रदेश में पंचायत व विधानसभा का लड़ेगी चुनाव

छह विधायक, सांसद व तीन मंत्री होते हुए भी समस्याएं हल न होना बताया दुर्भाग्यपूर्ण

फतेहपुर, शमशाद खान । आरपीआई संगठन को मजबूत करने के साथ ही प्रदेश में पंचायत चुनाव व विधानसभा चुनाव में गठबंधन के साथ मिलकर प्रत्याशी उतारेगी। पार्टी प्रदेश में लागतार मजबूत हो रही है। किसान आंदोलन के नाम पर किसानों की जगह विपक्षी एजेंट प्रदर्शन कर रहे है उक्त बातें जनपद दौरे पर आए रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष अरुण भाई गुप्ता ने पत्रकारों से रूबरू होते हुए कहीं।

शनिवार को शहर के नहर कॉलोनी स्थित गेस्ट हाउस में पत्रकारों से वार्ता के दौरान आरपीआई प्रदेश अध्यक्ष अरुण कुमार गुप्ता ने बताया कि आरबीआई (आठवले) केंद्र में भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन में शामिल है। पार्टी के मुखिया रामदास आठवले केंद्रीय मंत्री का दायित्व संभाल रहे है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी

पत्रकारों से बातचीत करते आरपीआई प्रदेश अध्यक्ष अरूण कुमार गुप्ता।

के साथ मिलकर उनकी पार्टी पंचायत चुनाव व प्रदेश के विधानसभा चुनाव वर्ष 2022 में 25 सीटों पर गठबंधन के तहत अपने प्रत्याशी उतारेगी। कृषि बिल पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि केंद्र कृषि बिल में बदलाव को सहमत है लेकिन धरना दे रहे किसानो के एजेंट ही जिद पर अड़े हुए है। उन्होंने कृषि बिल में बदलाव को जरूरी बताते हुए कहा कि कृषि बिल का किसान विरोध नहीं कर रहे बल्कि किसानों के भेष में विपक्षी एजेंट ही प्रदर्शन कर रहे हैं। बसपा पर निशाना साधते हुए हुए उसे ढलती हुई पार्टी बताया। साथ ही एआईएमआईएम अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी को अलगवाद की नीतियों वाला व बांटने वाला बताया। साथ ही कहा कि देश के लोग जातियो व धर्मों के आधार पर बंटने वाले नहीं हैं। उन्होंने बताया कि देश में मात्र 6 प्रतिशत खरीद ही एमएसपी के तहत होती है। किसानों की समस्याओं के लिए आरपीआई संघर्षशील है। किसान हित को सर्वोपरि बताया। साथ ही कहा कि कुछ अधिकारियों की वजह से किसानों की उपज की खरीद नहीं हो पा रही है। उन्होंने बताया कि जनपद में तीन मंत्री एक सांसद एवं छह विधायक होने के बाद भी किसानों की समस्याओं का समाधान न हो पाना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। अफसरों की लापरवाही की वजह से मंडियों में किसानों की उपज की खरीद नहीं हो पा रही है। कृषि बिल की समस्याओं पर उनके नेता रामदास आठवले द्वारा प्रधानंमत्री से वार्ता कर समाधान निकालने के लिये प्रयासरत हैं। उद्योग नीतियों को लेकर सरकार से वार्ता की जा रही है। वहीं पत्रकार वार्ता के पश्चात पार्टी द्वारा कार्यकर्ता सम्मलेन किया। जिसमें पँचायत व लोकसभा चुनाव को लेकर चर्चा की गयी। उन्होने कार्यकर्ताओं से बाबा साहब आंबेडकर द्वारा बनाई गयी पार्टी की जानकारी व नीतियों को गांव गांव तक पहुचाने व पार्टी से जोड़ने का आह्वान किया। इस मौके पर आरपीआई किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष रामदत्त मिश्रा, मधुसूदन तिवारी, अखिलेश कुमार, मो0 अजमेरी, श्रवण कुमार पांडेय, योगेश त्रिपाठी, रमाकांत तिवारी, संतोष सिंह, श्याम बाबू सिंह, मो0 शाकिर, नागेंद्र आदि मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages