ग्रामीणों को लगाया गया हेपेटाइटिस-बी का टीका - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, January 21, 2021

ग्रामीणों को लगाया गया हेपेटाइटिस-बी का टीका

स्वस्थ्य भारत जन कल्याण सेवा समिति द्वारा किया गया टीकाकरण

कमासिन, के एस दुबे । कस्बा कमासिन में स्वस्थ्य भारत जन कल्याण सेवा समिति लखनऊ के द्वारा हेपेटाइटिस-बी का टीकाकरण किया गया। इसके लिए पहले स्थानीय आशा बहुओं के माध्यम से घर-घर जाकर रजिस्ट्रेशन किया गया। इसके बाद टीकाकरण हुआ। संस्था से आए डा0 अरुण यादव जिला प्रभारी, डा0 दीपक सिंह परमार, जेपी मिश्रा, विजमा यादव संगिनी, ऊषा देवी, मुन्नी देवी आदि ने कैंप लगाकर 255 मरीजों का टीकाकरण किया। डा0 अरुण यादव ने बताया कि हेपिटाइटिस-बी वायरस (एबीबी) से होने वाली लीवर की बीमारी को हेपेटाइटिस-बी कहते हैं। एचबीबी लीवर कोशिकाओं को संक्रमित कर उन्हें धीरे-धीरे मार डालता है ,जिससे सियासिस कैंसर या मृत्यु हो सकती है ।यह बीमारी एड्स व कैंसर से भी खतरनाक है ।यह विषाणु संक्रमित व्यक्ति के रक्त तथा शरीर के द्रव्य जैसे पसीना, आंसू और योनि स्राव में मौजूद होता है और उसी से फैलता है। इसी प्रकार टाइफाइड जो एक संक्रमण फैलाने वाली बीमारी है, बाजार की बिना ढंकी चीजें ,दूषित पानी ,भोजन और रोगी के संपर्क में आने से हो

हेपेटाइटिस बी का टीका लगाते चिकित्सक

सकती है ।इस बीमारी में बुखार का दिमाग पर चढ़ना ,आंतों में सूजन वायलरी ट्रक्ट कर  कैंसर व पित्त थैली में पथरी होने का डर रहता है ।बच्चों में हो जाने से उनकी शिक्षा-दीक्षा प्रभावित होती है ।एक बार यह बीमारी हो जाने पर दोबारा होने की संभावना 95ः होती है । इसकी तीन खुराक इंजेक्शन के माध्यम से एक-एक माह के अंतराल से दी जाती है। इसका पहला टीका कभी-कभी ,दूसरा टीका 1 माह बाद ,तीसरा टीका पहले टीके के दो माह बाद ,व बूस्टर टीका पहले टीके के छै माह बाद दिया जाता है। कमासिन में इसका जोर शोर से प्रचार प्रसार किया गया और लोगों ने इस टीके को लगवाने के लिए  भारी उत्साह दिखाया और यह मांग भी किया कि संस्था यहां रुक करके अधिक से अधिक लोगों को इस टीके का लाभ प्रदान करें।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages