पोर्टल पर फीडिंग से पूर्व की जाए चेकिंग: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, January 8, 2021

पोर्टल पर फीडिंग से पूर्व की जाए चेकिंग: डीएम

मासिक विकास कार्यों की समीक्षा बैठक 

बांदा, के एस दुबे । सर्किट हाउस में विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह ने कहा कि कार्यक्रम कार्यान्वयन विभाग के पोर्टल पर फीडिंग से पहले संबंधित अधिकारी अपने हस्ताक्षर से सूचना उपलब्ध कराएं, इसके बाद अपलोड कराने का कार्य करें। चिकित्सा विभाग की समीक्षा करते हुये मुख्य चिकित्साधिकारी को गलत फीडिंग कराये जाने पर अप्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि फीडिंग से पूर्व स्वयं सूचनाओं को देखने के उपरान्त ही अपलोड कराई जाये। जिला कार्यक्रम अधिकारी को सैम बच्चों को एनआरसी में भर्ती न कराये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि पूर्व बैठक में दिये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन करते हुये कुपोषित बच्चों को प्रत्येक दशा में एनआरसी में भर्ती कराया जाये ताकि ये बच्चे स्वस्थ्य हो सकें। उन्होंने अधिशाषी अभियन्ता, लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिये कि अधूरी सड़कों का निर्माण कार्य समय से मानक एवं गुणवत्ता के साथ पूरा किया जाये।

बैठक को संबोधित करते जिलाधिकारी

जिलाधिकारी ने सिंचाई विभाग की समीक्षा के दौरान अधिशाषी अभियन्ता केन कैनाल को निर्देश दिये कि रबी की फसलों को दृष्टिगत रखते हुये किसानों को फसलों की सिंचाई के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध कराया जाये। जिस पर अधिशाषी अभियन्ता द्वारा बताया गया कि नहरें 10 जनवरी से 23 जनवरी तक चलाई जायेंगी। ड्रोन सर्वे का कार्य पूर्ण हो चुका है, सत्यापन का कार्य जारी है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि 10 जनवरी से पूर्व यह कार्य प्रत्येक दशा में पूरा कर लिया जाये। विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान अधिशाषी अभिन्ता विद्युत द्वारा बताया गया कि सरकारी विभागों में विद्युत विभाग का लगभग 14 करोड़ 78 लाख बकाया है। जिस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि सम्बन्धित विभागों से समन्वय स्थापित कर तत्काल वूसली की कार्यवाही की जाये। सीडीओ ने बताया कि ग्राम बड़ागांव गौशाला में जो विद्युत लाइन गई है, उससे कभी भी दुर्घटना घट सकती है। डीएम ने अधिशाषी अभियन्ता विद्युत को निर्देश दिये कि तत्काल विद्युत लाइन सही की जाये ताकि कोई अप्रिय घटना न हो सके। जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग, वन विभाग, कृषि विभाग, मनरेगा विभाग, नलकूप विभाग, पेयजल, जिला पूर्ति, काॅपरेटिव, शिक्षा विभाग, डूडा विभाग, पंचायती राज विभाग, मत्स्य विभाग, उद्यान विभाग, पोषण मिशन एवं वन विभाग आदि विभागों की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी विभाग अपने-अपने कार्यो में शिथिलता न बरते तथा प्रगति में सुधार लाएं। बैठक में सीडीओ हरिश्चन्द्र वर्मा, परियोजना निदेशक डीआरडीए आरपी मिश्रा, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एनडी शर्मा, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी एके बघेल, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सहित सम्बन्धित विभाग के जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages