राष्ट्रीय रामायण मेला 11 मार्च को शुभारंभ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, January 3, 2021

राष्ट्रीय रामायण मेला 11 मार्च को शुभारंभ

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। भगवान श्रीराम की तपोभूमि में देश का ख्यातिलब्ध राष्ट्रीय रामायण मेले की शुरुआत वर्ष 1973 से हुई। इस वर्ष 48वां समारोह 11 से 15 मार्च तक संपन्न होगा। 

यह जानकारी रामायण मेला के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश करवरिया ने देते हुए बताया कि रामायण मेला देश के विशिष्ट सांस्कृतिक समारोह के रूप में जाना जाता है। जिसकी परिकल्पना महान समाजवादी चिंतक डा राममनोहर लोहिया ने की थी। उनकी परिकल्पना को मूर्तरूप देते हुए वर्ष 1973 में प्रथम मेला आयोजित कर समाजसेवी, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के परिवार के गोपालकृष्ण करवरिया, आचार्य बाबूलाल गर्ग ने शुरुआत कराई। उन्होंने बताया कि अब तक मेला के समारोहो में देश के प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री सहित केन्द्रीय मंत्री तथा अलग-अलग प्रांतों के महापुरुष प्रतिभाग कर चुके हैं। रविवार को आगामी मेला के आयोजन की रूपरेखा के संबंध

बैठक में मौजूद कार्यकारी अध्यक्ष व पदाधिकारी।

में बैठक रामायण मेला परिसर में संपन्न हुई। बैठक में पूर्व सांसद भैरों प्रसाद मिश्र के अलावा जनपद के वरिष्ठ अधिवक्ता कृष्ण गोपाल गुप्ता, पंकज अग्रवाल, जागेश्वर यादव, श्याम गुप्ता, लालू दुबे, संत मदन गोपाल दास, संत बद्री प्रपन्नाचार्य महाराज आदि ने विचार व्यक्त किए। मुख्य रूप से मेले में क्षेत्रीय प्रतिभाओं को अवसर देने पर चर्चा की गई। मेले के उद्घाटन के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री को आमंत्रित करना, स्वर्ण जयंती के लिए अभी से तैयारी प्रारंभ करने आदि पर विमर्श हुआ। संचालन डा करुणाशंकर द्विवेदी एवं आभार कार्यकारी अध्यक्ष राजेश करवरिया ने व्यक्त किया। संपन्न हुई बैठक में राजाबाबू पाण्डेय, शिवमंगल शास्त्री, मो यूसुफ, सत्येन्द्र पाण्डेय, आशीष पाण्डेय, मनोज गर्ग, राजेन्द्र मोहन त्रिपाठी, कलीमुद्दीन बेग, जितेन्द्र गोस्वामी, बृजेन्द्र शुक्ला, शिव प्रकाश कुशवाहा, राममूरत सोनी, सुशील श्रीवास्तव, शैलेन्द्र करवरिया के अलावा अन्य दर्जनों लोग मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages