रास्ते में निकली आक्सीजन की नली नवजात की मौत - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, December 11, 2020

रास्ते में निकली आक्सीजन की नली नवजात की मौत

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । एंबुलेंस से बांदा से प्रयागराज जा रहे नवजात ने आक्सीजन न मिलने पर दम तोड दिया। चित्रकूट जिला अस्पताल में डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने एंबुलेंस स्टाफ पर रास्ते में आक्सीजन की नली निकलने के बाद न लगाने और आक्सीजन न होने का आरोप लगाया। एंबुलेंस स्टाफ ने आरोपों को गलत बताया है।


बांदा के बबेरू निवासी ओमप्रकाश ने बताया कि उसके छोटे भाई राजबहादुर की पत्नी कोमल को शुक्रवार की सुबह प्रसव दर्द होने पर बबेरू के अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्रसव होने के बाद नवजात की हालत गंभीर होने पर डाक्टरों ने बांदा अस्पताल रेफर कर दिया। दोपहर को डाक्टरों ने जच्चा बच्चा को प्रयागराज रेफर कर दिया। एंबुलेंस से आक्सीजन लगाकर ले जाने को कहा था। रास्ते में ब्रेकर में अचानक आक्सीजन की नली बच्चे की नाक से निकल गई। आरोप लगाया कि परिजनों ने कई बार एंबुलेंस स्टाफ से इसे सही करने को कहा लेकिन कुछ नहीं किया और नवजात की हालत बिगडती गई। चित्रकूट पहुंचने पर एंबुलेंस स्टाफ ने जिला अस्पताल में नवजात को दिखाने की बात कही यहां पर डाक्टर ने नवजात को मृत घोषित कर दिया। 

 नवजात के मौत की जानकारी होते ही परिजन रोने बिलखने लगे। एंबुलेंस स्टाफ पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर बांदा मेें शिकायत करने की बात कही। वहीं एंबुलेंस के ईएमटी प्रेमप्रकाश ने बताया कि नवजात को एंबुबैग लगा था। वह निकल गया था। जिसे बिना किसी डाक्टर के सही तरीके से लगाना संभव नहीं होता खासकर नवजात के साथ। इसीलिए एंबुलेंस जल्दी से जिला अस्पताल चित्रकूट लाए थे ताकि इसे सही करा सके। वाहन में आक्सीजन पर्याप्त है आक्सीजन की नली तभी लगती जब एबुबैग को लगाया जाए।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages