अधीक्षक की वापसी से खफा स्वास्थ्य कर्मी, शुरू की हड़ताल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, December 21, 2020

अधीक्षक की वापसी से खफा स्वास्थ्य कर्मी, शुरू की हड़ताल

कर्मियों की हड़ताल से अस्पताल की व्यवस्था चैपट 

बांदा, के एस दुबे । पूर्व अधीक्षक की स्वास्थ्य केंद्र जसपुरा में फिर से वापसी हो जाने से नाराज स्वास्थ्य कर्मियों ने मोर्चा खोल दिया है। सोमवार से कर्मियों ने हड़ताल शुरू कर दी। चेतावनी दी है कि हड़ताल तब तक जारी रहेगी, जब तक उनकी समस्या का समाधान नहीं हो जाता। 

गौरतलब हो कि छह माह पूर्व स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक रहे डा. संदीप सिंह को कर्मचारियों की शिकायतों के आधार पर जांच कराई गई थी और शिकायतें सही पाए जाने पर हटा दिया गया था। लेकिन सत्ता दल के बड़े नेता के दबाव में मुख्य चिकित्साधिकारी ने जिले में चार्ज लेने के बाद उसी आधीक्षक को पुनः चार्ज दे दिया। अधीक्षक की वापसी से नाराज कर्मचारियों ने शनिवार को पैलानी के उपजिलाधिकारी से लेकर सदर विधायक, मुख्य

हड़ताल के दौरान धरने पर बैठे स्वास्थ्य कर्मचारी

चिकित्साधिकारी तथा जिला अधिकारी को ज्ञापन दे कर अवगत कराया था कि यदि पूर्व आधीक्षक को हटाया नही गया तो वे लोग सभी तरह का काम बंद करके अनिश्चित कालीन हड़ताल में बैठने को मजबूर हो जायेगे। लेकिन उन कर्मचारियों की बात जब किसी ने नही सुनी तो सभी कर्मचारी लामबंद होकर सोमवार से हड़ताल पर बैठ गए। हालांकि हड़तालियों ने इमरजेंसी को खुला रखा है। वहीं अस्पताल के कर्मचारियों ने बताया कि पूर्व आधीक्षक डा. सन्दीप सिंह पर जो आरोप लगे हुए हैं उन आरोपो को देखते हुए उसकी वापसी पुनः नही होनी चाहिए थी। मामला चाहे जो भी हो अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि जिस अधिकारी के ऊपर सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगे हो और मामले में सही भी पाए गए हों, उसकी पुनः वापसी उसी जगह में होना मानक के खिलाफ है। वहीं जिस डाक्टर को आधीक्षक का चार्ज दिया गया है, उससे भी सीनियर डा. इस अस्पताल में मौजूद हैं, फिर भी मानकों को दरकिनार कर चार्ज देना संविधान के खिलाफ है। हड़ताल में डा. दिनेश कुमार, डा. एसएस कादरी, डा. अर्चना दोहरे, सुनीता साहू, सावित्री साहू, सुधा वर्मा, सीमा, अजित कुमार, गौरव द्विवेदी, महेंद्र, समता देवी आदि मौजूद रहीं। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages