पूंजीपतियों के दबाव में कृषि कानून वापस नहीं ले रही सरकार: असलम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, December 24, 2020

पूंजीपतियों के दबाव में कृषि कानून वापस नहीं ले रही सरकार: असलम

अल्संख्यक विभाग के प्रदेश महासचिव का कांग्रेसियों ने किया स्वागत 

फतेहपुर, शमशाद खान । एक दिवसीय भ्रमण पर जनपद आये कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश महासचिव एवं इलाहाबाद मण्डल प्रभारी मो0 असलम का पार्टीजनों ने फूल-माला पहनाकर जोरदार स्वागत किया। तत्पश्चात प्रदेश महासचिव ने संगठनात्मक समीक्षा करते हुए कहा कि बूथ स्तर तक संगठन खड़ा किया जाये। उन्होने कहा कि पूंजीपतियों के दबाव में आकर कृषि कानून को केन्द्र सरकार वापस नहीं ले रही है। इस काले कानून से पूंजीपतियों व जमाखोरों को लाभ मिलेगा। 

प्रदेश महासचिव का माला पहनाकर स्वागत करते कांग्रेसी।

कांगे्रस अल्पसंख्यक विभाग के जिलाध्यक्ष नैज घोसी के नेतृत्व में अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश महासचिव मो0 असलम का कार्यकर्ताओं ने फूल-माला पहनाकर जोरदार स्वागत किया। स्वागत के पश्चात श्री असलम ने संगठनात्मक ढांचे को कैसे खड़ा किया जाये इस पर चर्चा की। श्री असलम ने कार्यकर्ताओं से बातचीत करते हुए जिले में बूथ स्तर तक संगठन को खड़ा करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि तीस दिसम्बर तक जिला एवं शहर कमेटी का निर्माण किया जाये। उन्होने कहा कि कमेटी में उन्हीं लोगों को रखा जाये जो सक्रिय रूप से संगठन और जनता का काम कर सकें। तत्पश्चात उन्होने किसान बिल पर कहा कि केन्द्र सरकार पूंजीपतियों के हाथों की कठपुतली बन गयी है। कई दिनों से किसान भीषण ठण्ड में पड़ा है और कृषि कानून को वापस लेने की बात कर रहा है लेकिन सरकार पूंजीपतियों के दबाव में आकर कृषि का काला कानून वापस नहीं ले रही है। जिस कानून को किसान पसंद नही करते और वापस लेने की मांग कर रहे हैं तो आखिर क्या कारण है कि सरकार बिल वापस नहीं ले रही है। उन्होने पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को गिरफ्तार किये जाने की कड़ी निन्दा करते हुए कहा कि सरकार दमनकारी नीति अपनाये है और लोकतंत्र का गला घोंट रही है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages