सर्द रातों में खुले आसमान तले ठिठुर रहा गोवंश - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, December 12, 2020

सर्द रातों में खुले आसमान तले ठिठुर रहा गोवंश

अधिकारियों के आदेश के बावजूद नहीं लगवाए गए टिनशेड 

बबेरू, के एस दुबे । गौशाला में गौवंशों की हालत बद से बदतर बनी हुई है। इस भीषण ठंड में खुले आसमान में गौवंश ठिठुरता रहता है। एक माह पहले शासन ने टीन टप्पर डालने के आदेश दिए थे। लेकिन भ्रष्ट अधिकारी कर्मचारियों के अभी तक जूं नही रेगे। विश्व हिन्दू महासंघ गौरक्षा प्रकोष्ठ ने ऐसे कर्मचारियों पर कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

खुले आसमान तले ठिठुरता गोवंश

ब्लाक बबेरू के अंतर्गत ग्राम पंचायत पाराबिहारी में अभी तक अस्थायी गौशाला नही बनवाई गई है। कई किसानों ने अन्ना गौवंशों के रोकथाम के लिए गौशाला बनाए जाने के लिए अधिकारियों से गुहार लगाई लेकिन मनमानी पर उतारू ग्राम पंचायत अधिकारी ने सरकार के दिशा निर्देशों को उल्लंघन कर अपनी तिजोरी भरने में लगे हैं। इससे मजबूर होकर किसानों ने अन्ना गौवंशों को गांव के बाहर पेडों के नीचे एकत्र कर बांध दिया है और गांव के सभी किसानों ने चंदा करके तार फिनिंग कराई और पुआल गौवंशों को खिला रहे हैं। किसानों ने बताया कि प्रधान और सचिव सिर्फ कागज में फर्जी आंकडे़ परोस कर धन का बंदरबांट कर रहे है। अन्ना जानवर फसलों का भारी नुकसान कर रहे हंै। ग्राम पंचायत अधिकारी के सहयोग न करने से गौवंश शीतलहरी में ठिठुर रहे है। इसी तरह ग्राम पंचायत करहुली में पेयजल की बाउण्ड्री में गौवंश को बंद कर दिया गया। खुले आसमान में गौवंश ठिठुर रहा है। कई गौवंश ठंड से ठिठुर कर अकाल मौत का शिकार हो चुके हैं। ठंड से बचने के लिए पेयजल के रूम में गाए घुस गई वही उनकी मौत हो गई। चार दिन से गौंवंश मरे पडे है। कई बार ग्राम पंचायत सचिव को जानकारी दी गई। लेकिन अभी तक मृत गौंवंश को वहां से नही हटाया गया, इससे दुर्गंध के चलते वहां कोई नहीं जा रहा है। गौशाला के नाम पर लगे कर्मचारी भी प्रधान-सचिव के कृपा पात्र हैं, जिसकी वजह से गौवंश का ख्याल नही रखते हंै। विश्व हिन्दू महासंघ गौरक्षा प्रकोष्ठ ने चेताया है कि ठंड में सभी गौशालाओं पर टीन टप्पर लगाकर गौवंशों को खाने पीने की व्यवस्था कराई जाए। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages