मानवाधिकार घोषणा पत्र स्वतन्त्र जीने का देता है अधिकार - सिविल जज - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, December 11, 2020

मानवाधिकार घोषणा पत्र स्वतन्त्र जीने का देता है अधिकार - सिविल जज

बीडीएम  कालेज में माना अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस

फ़िरोज़ाबाद, विकास पालीवाल  । बीडीएम म्यू. कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में गुरूवार को मानवाधिकार दिवस प्राचार्या डॉ नीता सक्सेना  की अध्यक्षता में  आयोजित किया गया।  कार्यक्रम की मुख्य अतिथि सिविल जज सीनियर डिवीजन सीमा कुमारी व थाना प्रभारी सुनील कुमार तोमर रहे। सिविल जज ने कहा कि इंसानी अधिकारों को पहचान देने और उसके हक की लड़ाई को ताकत देने के लिए हर साल 10 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस मनाया जाता है। 

 

 छात्राओ को जानकारी देती सिविल जज सीमा कुमारी।

  थाना प्रभारी श्री तोमर ने कहा कि मानव को अपने अधिकारों से परिचित होना चाहिए। मानव को मानव की रक्षा करनी होगी। अंग्रेजी विभागाध्यक्षा डा0 सीमारानी जैन ने छात्राओं को सजग होकर जीवन जीने हेतु प्रेरित करते हुए अधिकार और कर्तव्य में सामज्जस्य की अनिवार्यता को बताया।  डा0 शशिप्रभा तोमर ने छात्राओं को बताया कि जीवन में ज्ञान, इच्छा एवं क्रिया का समन्वय अत्यन्त आवश्यक है।  कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहीं प्राचार्या नीता सक्सेना ने कहा कि व्यक्ति के अधिकारों का हनन मानवीयता के विरूद्ध किया जाने वाला कार्य है। कार्यक्रम में दर्शना कुमारी, डा0 नीलम, प्रीति सिंह, डा0 माया गुप्ता, नूतन रायजादा आदि उपस्थिति रही । 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages