पांचवे दिन कथा व्यास ने गजेन्द्र मोक्ष का किया मार्मिक वर्णन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, December 1, 2020

पांचवे दिन कथा व्यास ने गजेन्द्र मोक्ष का किया मार्मिक वर्णन

चौडगरा-फतेहपुर, शमशाद खान । मलवां विकास खण्ड के शिवराजपुर आदिगुरु शंकराचार्य आश्रम दुर्गा मंदिर मे चल रहे नौ दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान शतचण्डी महायज्ञ व श्रीमद भागवत कथा में श्रद्धालु भक्तों का भक्तिभाव देखते ही बन रहा है। कोरोना संक्रमण की जागरुकता के लिये शारीरिक दूरी के साथ कथा पंडाल में हाथो को सेनेटाइज कराया जा रहा है। यज्ञ में डाली गई सुगंधित समाग्रियों के धूम्र से सुवाहित हो रहा वातावरण हर किसी को मोहित कर रहा है। 

धार्मिक अनुष्ठान में हिस्सा लेते श्रद्धालु।

कथा व्यास पंडित यदुनाथ अवस्थी ने पांचवे दिवस गजेन्द्र मोक्ष कथा प्रसंग का बड़ा ही मार्मिक वर्णन श्रोताओ को श्रवण कराया तो भक्त विह्वल हो उठे। उन्होने कहा कि भक्त की करूण पुकार सुनकर भगवान दौडे़ चले आते है। उन्होने गीत आसरा इस जहां का मिले न मिले, मुझे तेरा सहारा सदा चाहिये... सुनाकर कथा का महात्म्य समझाया। कथा समापन पर आरती के बाद भक्तो को प्रसाद वितरित किया गया। आयोजक स्वामी सत्यांनद जी महाराज, युवा विकास समिति के प्रवक्ता आलोक गौड़, रामशंकर आर्य, अनिल सिंह, पप्पू, आचार्य राजन अवस्थी, आचार्य पंकज आदि रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages