आय दोगुनी करने के लिए किसानों को किया जा रहा जागरूक: मुखलाल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, December 25, 2020

आय दोगुनी करने के लिए किसानों को किया जा रहा जागरूक: मुखलाल

जनपद के तीन लाख बत्तीस हजार किसानों को मिली किश्त: डीएम 

पूर्व प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर गांधी मैदान में लगी कृषि प्रदर्शनी/किसान मेला

फतेहपुर, शमशाद खान । भारत रत्न, पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 अटल बिहारी बाजपयी की जयन्ती जिले भर में सुशासन दिवस के रूप में मनाई गयी। कलेक्ट्रेट स्थित गांधी मैदान में कृषि प्रदर्शनी/किसान मेला कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सजीव प्रसारण उपस्थित किसानों को दिखाया गया। कृषि प्रदर्शनी एवं किसान मेले में विभिन्न विभागांे द्वारा स्टाल लगाये गये। जिनका अवलोकन भी किया गया। 

कृषि प्रदर्शनी/किसान मेला में मंचासीन मुख्य अतिथि व अन्य।

कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि के रूप में राज्य पिछड़ा आयोग के सदस्य मुखलाल पाल ने शिरकत की। इसके अलावा जिलाधिकारी संजीव सिंह, पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल, मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि ने कहा कि केन्द्र एवं प्रदेश सरकार किसानों के हित में अनेक जन कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। जिसमें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आदि का लाभ सीधे किसानों को मिल रहा है। उन्होने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए मेले/गोष्ठियों के माध्यम से वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को जीवामृत एवं वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी संजीव सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा चलायी गयी योजनाओं में प्रधानमंत्री का सम्बोधन सुना। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की सातवीं किश्त जनपद के तीन लाख बत्तीस हजार किसानों के खाते में स्थानान्तरित हुयी है। जिसमें चैबीस हजार कृषकों को पहली किश्त प्राप्त हो रही है। जिन किसानों के खाते में त्रुटि एवं पंजीकरण नहीं हुआ है वह तहसील में आवेदन करके योजना का लाभ ले सकते हैं। उन्होने बताया कि सभी विकास खण्डों में किसान मेला आयोजित किये जा रहे हैं। किसान मेले/गोष्ठियों में जाकर बतायी गयी तकनीकियों का लाभ लेकर खेती करें। उन्होने कहा कि जनपद में गेहूं, चावल से हटकर मिर्च, केला, अमरूद, गोभी के अलाव मोती की शुरूआत की गयी है। किसान मिट्टी के अनुसार खेती करें। उन्होने बताया कि 15 दिसम्बर से 30 दिसम्बर तक लेखपालों द्वारा वरासत दर्ज कराने का काम किया जा रहा है। जिन लोगों की वरासत दर्ज नहीं है वह प्रार्थना पत्र देकर वरासत दर्ज करायें। जिला कृषि अधिकारी बृजेश सिंह ने संचालन करते हुए सभी का आभार जताया। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages