चाचा-भतीजे की हत्या के बाद गांव में पसरा रहा सन्नाटा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, December 30, 2020

चाचा-भतीजे की हत्या के बाद गांव में पसरा रहा सन्नाटा

सवेरे गुस्साए परिजन व ग्रामीणों ने लगाया जाम

एडीजी, एसपी ने घटना स्थल का किया मुआयना

प्रभारी निरीक्षक निलंबित, दो के खिलाफ मामला दर्ज

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। पुरानी रंजिश के चलते शराब के नशे मे धुत दबंग ने काग्रेस के पूर्व जिला उपाध्यक्ष व भतीजे की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना से आक्रोशित ग्रामीणो ने हमलावर के घर में आग लगा दी। गिरफ्तारी व आर्थिक मदद की मांग को लेकर सड़क पर जाम लगा दिया। 

ये वारदात पहाडी थानान्तर्गत प्रसिद्दपुर गांव में बीती रात करीब नौ बजे हुई। बताया गया कि काग्रेस के पूर्व जिला उपाध्यक्ष अशोक पटेल (55) पुत्र रंजीत पटेल नित्य की तरह रोड किनारे वाले मकान से खाना खाने गॉव अंदर स्थित पुस्तैनी मकान जा रहा था। साथ मे भतीजा शुभम (26) पुत्र रज्जन भी था। जैसे ही घर के नजदीक स्थित तालाब के पास पहुचे तो वहा पर कमलेश पुत्र खेलावन रैकवार लाइसेंसी राइफल लिये शराब के नशे मे धुत होकर गालीगलौज करने लगा। भतीजे शुभम ने विरोध किया तो उसे गोली मार दी। बचाने आये चाचा को भी तीन गोलिया मारकर हत्या कर मौके से फरार हो गया। दोहरे हत्याकांड की खबर से गुस्साये ग्रामीणो ने आरोपी के परिजनो को घर के अंदर बंद कर आग लगा दिया। सूचना पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक श्रवण कुमार सिंह उच्चाधिकारियो को घटना से अवगत कराते हुये मौके पर पहुच। आरोपी के परिजनो को घर से बाहर सुरक्षित निकाल लिया। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल, अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश स्वरूप पांडेय, क्षेत्राधिकारी राजापुर रामप्रकाश, प्रभारी निरीक्षक राजापुर अनिल सिंह रात्रि मे ही घटना स्थल का मुआयना किया। एसपी ने तीन टीमो का गठन कर शीघ्र हत्यारे की गिरफ्तारी के सख्त निर्देश दिये है। पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम कराया है।

मुआयना करते एडीजी

घटना के दूसरे दिन आईजी बॉदा के. सत्यनारायन ने घटना स्थल का दौरा कर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिये। मृतक के परिजनो से मुलाकात कर हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। दोहरे हत्याकांड के आरोपी की बारह घंटे बाद भी गिरफ्तारी नही होने से गुस्साये ग्रामीण व परिजनो ने पहाडी राजापुर मार्ग मे जाम लगा दिया। घटना मे लापरवाहाी बरतने पर प्रभारी निरीक्षक पहाडी श्रवण कुमार को पुलिस अधीक्षक ने निलंबित किया है। एसडीएम राहुल कश्यप ने परिजनो को सुरक्षा व आर्थिक मदद का भरोसा देते हुए जाम खुलवाया है। पुलिस ने मृतक शुभम के बडे़ भाई आकाश की तहरीर पर हमलावर कमलेश व पुत्र राहुल के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

विधवा का घर भी जलकर हुआ राख

पहाडी। दोहरे हत्याकांड से बौखलाये ग्रामीणो ने आरोपी कमलेश के घर को आग के हवाले कर दिया। जिससे कमलेश का घर पूरी तरह जलकर राख हो गया, लेकिन पडोस मे स्थित विधवा असहाय कोदिया का भी घर आग की चपेट में आकर जल गया। इस हाडकपाऊ ठंड मे नौनिहालो को लेकर खुले आसमान के तले रहने को मजबूर है। आख मे आसू लिये विधवा कोदिया पत्नी हुबलाल कोरी ने बताया कि पुत्र केशन था। जिसकी मृत्यु हो चुकी है। अब परिवार मे विधवा बहू शैल कुमारी, नातिन एकता, नाती पंकज, पवन है। मेहनत मजदूरी करते हैं। खेती भी नही है।

जाम लगाए ग्रामीण

मृतक अशोक ही था परिवार का सहारा

पहाडी। मृतक अशोक पटेल तीन भाई थे। जिसमे छोटे भाई रज्जन की विगत वर्ष पूर्व डेगू बुखार से मौत हो गई। बडा भाई मानसिक रोगी है। अशोक पटेल ही परिवार का मुखिया था। मृतक के दो पुत्र विपिन, आलोक व पुत्री रीतू है। छोटे भाई रज्जन का पुत्र शुभम था। दूसरा बेटा आकाश है। मृतक राजनीति के साथ ही किसानी करता था। जिससे परिवार चलाता था।

जला घर।

पूर्व मे कई घटनाओ को दे चुका है अंजाम 

पहाडी। आरोपी कमलेश इसके पूर्व भी कौशाबीं जनपद के अजरौली गॉव मे एक बारात के दौरान एक पटेल विरादरी के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी थी। जिसका मुकद्दंमा लिखा गया। जेल भी जा चुका है। आपसी समझौता से मामला खत्म हुआ। इसके कुछ वर्षो बाद ही चित्रकूट जनपद के भरतकूप अन्तर्गत एक गॉव मे भी ऐसी ही घटना को अंजाम दिया। छह माह जेल मे रहा। इसके बाद भी शस्त्र लाइसेंस निरस्त न होना आश्चर्य की बात है।

प्रधानी के चुनाव में हारे थे मृतक व हमलावर 

चित्रकूट। मृतक कांग्रेस नेता अशोक पटेल व हमलावर कमलेश रैकवार के बीच पुरानी रंजिश का कारण ग्रामीणों के अनुसार यह भी बताया जा रहा है कि पिछली पंचवर्षीय में दोनो प्रधानी के चुनाव में खड़े हुए थे। जिसमें दोनो की हार हुई थी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages